--Advertisement--

आरएएस गीता सिंह को आईएएस बनाने के मूड में नहीं सरकार

कैट के आदेश की अनुपालना करने के बजाय जवाब देने की तैयारी में सरकार जयपुर | राज्य सरकार राजस्थान प्रशासनिक सेवा 1982...

Danik Bhaskar | Aug 13, 2018, 04:36 AM IST
कैट के आदेश की अनुपालना करने के बजाय जवाब देने की तैयारी में सरकार

जयपुर | राज्य सरकार राजस्थान प्रशासनिक सेवा 1982 बैच की अफसर गीता सिंह देव को आईएएस बनाने के मूड में नहीं है। केंद्रीय प्रशासनिक अभिकरण (कैट) की जयपुर बेंच ने ढाई माह पहले छह सप्ताह में रिव्यू डीपीसी करने और दो सप्ताह में अधिसूचना जारी करने के लिए समय दिया गया था, लेकिन अभी तक कार्मिक विभाग की ओर से किसी प्रकार की एक्सरसाइज शुरू नहीं की गई। कार्मिक विभाग की ओर से कैट को जवाब देने की तैयारी है। गीता सिंह देव 31 अगस्त 2018 में रिटायर हो जाएंगी।

राज्य सरकार की ओर से गीता सिंह देव को उनके एसीआर 2005 से लेकर 2015 तक लंबित रहने का हवाला देकर प्रमोट नहीं किया। उन्हें अनफिट करार दिया गया था। बाद में अधिक आयु होने के कारण उन्हें इस दौड़ से बाहर कर दिया गया। इसको लेकर गीता सिंह देव ने कैट का दरवाजा खटखटाया था। कैट ने राज्य और केंद्र सरकार को 31 अगस्त तक आईएएस में प्रमोशन करने के लिए आदेश दिया था। उस आदेश पर राज्य सरकार की ओर से सकारात्मक रुख नहीं दिखाया जा रहा है। कार्मिक विभाग के अधिकारियों का कहना है कि गीता सिंह देव के मामले में मामला उच्च स्तर पर विचार किया गया। गौरतलब है कि गीता सिंह देव पूर्व मुख्यसचिव ओपी मीणा की प|ी है। ओपी मीणा और गीता सिंह देव के बीच का विवाद कई बार सार्वजनिक हो चुका है।