--Advertisement--

यूजीसी स्कॉलरशिप से कटे पैसे का मामला

जयपुर | राजस्थान विश्वविद्यालय के शोधार्थियों का पिछले कई साल से कट रहा एचआरए का पैसा अभी तक विश्वविद्यालय...

Dainik Bhaskar

Aug 13, 2018, 04:36 AM IST
जयपुर | राजस्थान विश्वविद्यालय के शोधार्थियों का पिछले कई साल से कट रहा एचआरए का पैसा अभी तक विश्वविद्यालय प्रशासन ने यूजीसी से क्लेम नहीं किया है। यह पैसा न ही शोधार्थियों को यूजीसी से प्राप्त हुआ है। अब विवि प्रशासन ने यूजीसी की ओर से शोधार्थियों का काटा करीब 2.5 करोड़ रुपए एचआरए क्लेम करने फैसला लिया है। यूजीसी से प्राप्त होने के बाद यह पैसा विवि फंड में ही जमा होगा। शोधार्थियों का कहना है कि जब प्रतिमाह हमारा 5 हजार रुपए एचआरए कट रहा है तो हजारों रुपए विवि हॉस्टल रेंट क्यों लिया जा रहा है। शोधार्थियों पर यह दोहरी मार इसलिए है, क्योंकि यूजीसी स्कॉलरशिप में जेआरएफ के 5 हजार और एसआरएफ के 5600 रुपए प्रतिमाह एचआरए के काटे जा रहे हैं। दूसरी ओर विवि के 250 सीट वाले 4 शोध छात्रावासों में रहने वाले करीब 125 शोधार्थियों से हॉस्टल रेंट के रूप में प्रति वर्ष 11 हजार रुपए भी वसूले जा रहे हैं। एचआरए का कटने वाला पैसा ना तो विवि यूजीसी से क्लेम करता है और ना ही शोधार्थी क्लेम कर पाते हैं। ऐसे में कई साल से शोधार्थियों का एचआरए का पैसा यूजीसी के पास ही है।



एचआरए के Rs. 2.5 करोड़ : न आरयू ने क्लेम किया ना ही शोधार्थियों को मिला

X

Recommended

Click to listen..