जयपुर

--Advertisement--

जातिगत भेदभाव का विरोध करती है ब्रजभाषा

जयपुर | ब्रजभाषा में स्त्री विमर्श को सर्वोपरि माना है और यह जातिगत भेदभाव का भी विरोध करती है। राजस्थान...

Dainik Bhaskar

Aug 12, 2018, 04:41 AM IST
जातिगत भेदभाव का विरोध करती है ब्रजभाषा
जयपुर | ब्रजभाषा में स्त्री विमर्श को सर्वोपरि माना है और यह जातिगत भेदभाव का भी विरोध करती है। राजस्थान यूनिवर्सिटी के मानविकी पीठ सभागार में ये विचार नई दिल्ली, साहित्य अकादमी से आए प्रो. सूर्य प्रसाद दीक्षित ने हिंदी विभाग की ओर से बृजभाषा साहित्य, समाज और संस्कृति विषय पर आयोजित संगोष्ठी में कहे। मुख्य अतिथि वैदिक वीरांगना दल की संरक्षक दुर्गा शर्मा थीं। सेवानिवृत आईएएस और साहित्यकार डॉ. हेमन्त शेष ने कहा कि दक्षिण भारत में भी ब्रजभाषा का रंग चढ़ा है। हिंदी विभागाध्यक्ष डॉ. विनोद शर्मा ने संगोष्ठी में प्राप्त आलेखों को पुस्तक के रूप में प्रकाशित कराने की बात कही। तकनीकी सत्र में प्रो. हेतु भारद्वाज ने कहा कि हिंदी पाठ्यक्रमों में समाजोपयोगी सामग्री को रखने की जरूरत है। अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के प्रो. अब्दुल अलीम ने बृज क्षेत्र के लोक कवि नजीर अकबराबादी की कविताओं के माध्यम से बृजभाषा के रूप से रूबरू कराया।

X
जातिगत भेदभाव का विरोध करती है ब्रजभाषा
Click to listen..