• Home
  • Rajasthan News
  • Jaipur News
  • News
  • जयपुर डिस्कॉम में सीएलआरसी टेंडर की ज्यादा रेट, ठेकेदारों को चुकानी होगी ज्यादा राशि
--Advertisement--

जयपुर डिस्कॉम में सीएलआरसी टेंडर की ज्यादा रेट, ठेकेदारों को चुकानी होगी ज्यादा राशि

जयपुर डिस्कॉम के टीडब्ल्यू विंग की ओर से लगाए सेंट्रल लेबर रेट कॉन्ट्रेक्ट (सीएलआरसी) टेंडर में ज्यादा रेट आने से...

Danik Bhaskar | Aug 09, 2018, 04:45 AM IST
जयपुर डिस्कॉम के टीडब्ल्यू विंग की ओर से लगाए सेंट्रल लेबर रेट कॉन्ट्रेक्ट (सीएलआरसी) टेंडर में ज्यादा रेट आने से ठेकेदारों को करोड़ों रुपए ज्यादा चुकाने होंगे। जबकि अब तक हुए टेंडरों में बीएसआर से कम रेट आती थी। लेकिन टीडब्ल्यू विंग ने पहले के टेंडरों में काम नहीं करने वाले ठेकेदारों पर कार्रवाई करने के बजाए मामले में वर्क ऑर्डर देने की तैयारी की जा रही है।

डिस्कॉम में सीएलआरसी रेट पर हर साल करीब 300 से 400 करोड़ का काम होता है। डिस्कॉम में एचटी व एलटी केबल डालने, मीटर लगाने व बदलने, जीएसएस की मेंटेनेंस, लाइनों का रखरखाव, बिल बांटने सहित अन्य कार्यों में सीएलआरसी रेट से काम करवाया जाता है। इसमें मेटेरियल डिस्कॉम का होता है, लेकिन मजदूर व ठेकाकर्मी ठेकेदार उपलब्ध करवाते है। पहले डिस्कॉम लेवल पर सीएलआरसी रेट तय होती थी, लेकिन अब टीडब्ल्यू विंग ने सर्किल लेवल पर टेंडर कर दिए है। कुछ टेंडरों में बीएसआर से कम रेट आई है, लेकिन ज्यादातर टेंडरों में बीएसआर से भी 20 फीसदी से ज्यादा रेट आई है। ऐसे में डिस्कॉम को ज्यादा राशि चुकाना होगी।


कम रेट देने वाली फर्में नहीं कर रही है काम