Hindi News »Rajasthan »Jaipur »News» राहुल के रूट पर विवाद ; कांग्रेस टोंक रोड पर शो चाहती है, एसपीजी बोली- न मंदिर...न टोंक रोड, जेएलएन से सीधे रामलीला मैदान ले जाओ

राहुल के रूट पर विवाद ; कांग्रेस टोंक रोड पर शो चाहती है, एसपीजी बोली- न मंदिर...न टोंक रोड, जेएलएन से सीधे रामलीला मैदान ले जाओ

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी की जयपुर यात्रा के ठीक दो दिन पूर्व उनकी यात्रा के रूट पर सियासत शुरू हो...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 09, 2018, 04:45 AM IST

राहुल के रूट पर विवाद ; कांग्रेस टोंक रोड पर शो चाहती है, एसपीजी बोली- न मंदिर...न टोंक रोड, जेएलएन से सीधे रामलीला मैदान ले जाओ
कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी की जयपुर यात्रा के ठीक दो दिन पूर्व उनकी यात्रा के रूट पर सियासत शुरू हो गई। कांग्रेस जहां राहुल को टोंक रोड से रामलीला मैदान ले जाना चाहती है, वहीं एसपीजी ने राहुल को जेएलएन मार्ग से रामलीला मैदान ले जाने के लिए कहा है। एसपीजी का तर्क है कि जेएलएन.ज्यादा सुरक्षित है। एसपीजी की आपत्ति के बाद कांग्रेस का कहना है कि यह सरकार के इशारे पर है, ताकि राहुल लोगों से न मिल सकें। सुरक्षा के नाम पर सरकार भेदभाव करती है। विवाद खत्म करने के लिए कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट ने भी एसपीजी से बात की। हालांकि, पुलिस कमिश्नर संजय अग्रवाल ने कहा : राहुल किस रूट से जाएंगे...यह रिहर्सल रिपोर्ट के बाद ही तय होगा। राहुल 11 अगस्त को जयपुर आ रहे हैं। वे रामलीला मैदान में पार्टी के सम्मेलन में हिस्सा लेंगे। रामलीला मैदान से राहुल गांधी बंद गाड़ी में गोविंददेवजी मंदिर में दर्शन करने के लिए जाएंगे।

कांग्रेसका आरोप : सरकार के इशारे पर एसपीजी की आपत्ति। ताकि राहुल गांधी लोगों से न मिल पाएं। यह सुरक्षा के नाम पर भेदभाव।

यात्रा से पहले सियासत शुरू...

कांग्रेस क्या चाहती है

कांग्रेस राहुल गांधी को टोंक रोड, दुर्गापुरा पुलिया के नीचे से गोपालपुरा चौक, लक्ष्मी मंदिर तिराहा, रामबाग सर्किल, यादगार होते हुए रामलीला मैदान तक जुलूस के रूप में ले जाना चाहती है। ताकि यह रोड शो जैसा लगे।

बीच में मोती डूंगरी गणेश मंदिर के दर्शन भी कराए जा सकते हैं।

भाजपाका जवाब : एसपीजी कांग्रेस को सही राय दे रही है। टोंक रोड़ के मुकाबले जेएलएन ज्यादा सुरक्षित है। इसमें भेदभाव जैसा कुछ नहीं।

एसपीजी क्या कहती हैै

टोंक रोड के मुकाबले जेएलएन ज्यादा सुरक्षित है। इसी रास्ते से राहुल को रामलीला मैदान ले जाया जाना चाहिए। सुरक्षा के लिहाज से एसपीजी ने मोती डूंगरी गणेश मंदिर में दर्शन करने से भी मना किया है। पुलिस और एसपीजी ने बुधवार को टोंक रोड और जेएलएन दोनों मार्ग चेक किए।

कांग्रेस बोली : राहुल की लोकप्रियता से सरकार घबराई, जानबूझकर मार्ग बदलना चाहती है

राहुल गांधी की लोकप्रियता से सरकार घबरा गई है। जानबूझकर यात्रा जेएलएन मार्ग से करवाना चाहती है। पुलिस एसपीजी को गलत सूचना दे रही है। मोदी, शाह जयपुर आते हैं तो सात दिन तक सुरक्षा, जब कांग्रेस के नेता जयपुर आते हैं तो भेदभाव। -प्रताप सिंह खाचरियावास, शहर जिला कांग्रेस अध्यक्ष

भाजपा की सफाई : एसपीजी सही राय दे रही है

एसपीजी सुरक्षा की दृष्टि से सही राय दे रही है क्योंकि वीआईपी रूट के नजरिए से टोंक रोड के मुकाबले जेएलएन ज्यादा सुरक्षित है। इसमें भेदभाव जैसा कुछ नहीं है। -रामचरण बोहरा, भाजपा सांसद, जयपुर।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×