Hindi News »Rajasthan »Jaipur »News» रोमांटिक अंदाज में दिखे 13वीं सदी के पहले कॉमेडियन मुल्ला नसरुद्दीन

रोमांटिक अंदाज में दिखे 13वीं सदी के पहले कॉमेडियन मुल्ला नसरुद्दीन

City Reporter

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 09, 2018, 04:45 AM IST

रोमांटिक अंदाज में दिखे 13वीं सदी के पहले कॉमेडियन मुल्ला नसरुद्दीन
City Reporter मुल्ला नसरुद्दीन, दुनिया का पहला काॅमेडियन। जयपुर में 20 साल बाद बुधवार शाम जवाहर कला केंद्र में मुल्ला नसरुद्दीन का प्ले हुआ। प्ले का लेखन सुमित माथुर अाैर निर्देशन अभिषेक मुद्गल ने किया। इससे पहले 1998 में माेहम्मद इलियास खान यूसुफजई ने इसको मंचित किया था। ये नाटक संस्कृति मंत्रालय के सहयाेग से रंग मस्ताने थिएटर ग्रुप के बैनर पर खेला गया।

प्ले में इनकी रही अहम भूमिका... अालाेक शर्मा, दिव्या भाेमिया, नीर खत्री, देशराज गुर्जर, टिकेश, अनुष्का, दुष्यंत गंताेतरा, नवीन शर्मा, राम किशन, नीतू शेखावत, निपुन माथुर, राहुल गर्ग, प्रांज अाैर राज खत्री।

डायलॉग और एक्टिंग से प्ले में आई जान...

दस वर्षों तक तेहरान, बागदाद और दूसरे शहरों में घूमने के बाद मुल्ला नसरुद्दीन अपने गधे के साथ जब अपने घर बुखारा लौटता है तो मुल्ला को कुम्हार की खूबसूरत बेटी गुलजान से मोहब्बत हो जाती है जिसे बादशाह अमीर हरम में रखने के लिए उठा लेता है। हंसी-मजाक करते हुए चतुराई के बल पर मुल्ला गुलजान को अमीर के चंगुल से छुड़ाता है।

खास इसलिए... क्योंकि स्टेज के सारे पर्दे हटाकर 40 कलाकाराें को बिना फेड इन-फेड आउट एक साथ मंच पर अभिनय कराया।

कौन हैं मुल्ला नसरुद्दीन... 13वीं सदी की तुर्क और अरब लाेक कथाअाें के चतुर किरदार। ओशो ने भी प्रवचनों में मुल्ला की कहानियों का खूब जिक्र किया।

2 रोचक किस्से...जिन्हें पढ़कर हंसी नहीं रुकेगी

मुल्ला नसरुद्दीन ने मंच पर खड़े होकर पूछा-क्या आप जानते हैं मैं क्या बोलूंगा, इसके बाद क्या हुआ जानिए

1

एक बार मुल्ला नसरुद्दीन को प्रवचन के लिए मंच पर बुलाया गया। मुल्ला ने मंच पर आकर पूछा, क्या आप जानते हैं कि मैं क्या बोलूंगा? लोग बोले- नहीं। तो मुल्ला ने कहा- ऐसे लोगों से मुझे कुछ नहीं कहना, जिन्हें ये तक पता नहीं कि मैं क्या बोलने वाला हूं। अगले दिन फिर बुलाया गया। मुल्ला ने फिर वही सवाल पूछा। इस बार लोग बोले- हां। तो मुल्ला ने कहा- जब आपको पता है तो कुछ कहने की जरूरत ही नहीं। इससे लोग नाराज हो गए और मुल्ला को फिर बुलाया, इस बार आधे बोले-हां और आधे बोले-न। इस पर मुल्ला ने कहा - जिन लोगों को पता है कि मैं क्या बोलने वाला हूं, वे लोग बाकी लोगों को भी बता दें।

भिखारी ने दरवाजा खटखटाया और कहा-नीचे उतरिए, तब बताऊंगा क्या काम है, जानें फिर मुल्ला ने क्या किया

एक दिन मुल्ला नसरुद्दीन के घर एक भिखारी आया। उस वक्त मुल्ला ऊपरी मंजिल पर थे, उन्होंने पूछा, क्या चाहिए? भिखारी बोला- आप नीचे आइए, तब बताऊंगा। मुल्ला नीचे आए तो उसने कहा- एक पैसा दे दो, बड़ी मेहरबानी होगी। इस पर मुल्ला को बड़ा गुस्सा आया। मुल्ला घर की ऊपरी मंजिल पर गया और खिड़की से बोला- ऊपर आओ। भिखारी ऊपर पहुंचा तो मुल्ला ने कहा- माफ करना भाई, अभी मेरे पास खुले पैसे नहीं हैं। भिखारी बाेला- फिर ऊपर क्यों बुलाया। मुल्ला ने कहा- तुमने भी तो नीचे से नहीं बताया था कि क्या चाहिए?

(ये कहानियां मुल्ला नसरुद्दीन की 350 रोचक कहानियों से ली गई हैं)

2

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×