--Advertisement--

तुला वाले लगाएं गुलमोहर, कन्या वाले जामुन का पौधा

श्रावणी व हरियाली अमावस्या शनिवार को मनाई जाएगी। इस दिन शनिश्चरी अमावस्या का भी संयोग बन रहा है। यह संयोग पितृ...

Dainik Bhaskar

Aug 11, 2018, 05:01 AM IST
श्रावणी व हरियाली अमावस्या शनिवार को मनाई जाएगी। इस दिन शनिश्चरी अमावस्या का भी संयोग बन रहा है। यह संयोग पितृ देवों को प्रसन्न करने के लिए विशेष शुभ है। इस दिन अपनी राशि के अनुसार पौधा लगाने से विशेष फलदायी है। खासकर इस दिन पौधारोपण करके उसकी बड़े होने तक देखभाल का संकल्प भी लेना चाहिए।

हालांकि अमावस्या तिथि का प्रारंभ शुक्रवार शाम 7:07 बजे पुष्य नक्षत्र में हो गया है। लेकिन उदया तिथि होने से शनिवार को ही श्रवणी व शनिचरी अमावस्या मनाई जाएगी। इसी दिन देव, पितर कार्य भी किए जाएंगे। राशि के अनुसार पौधारोपण करने से सौभाग्य की प्राप्ति होती है। पितृ देवता प्रसन्न होते हैं। पौधों को लगाकर उनके पालन-पोषण का संकल्प लेने से ग्रहों की अनुकूलता रहती है। स्वास्थ्य, धन, सुख-समृद्धि, भाग्य उदय, संतान उन्नति आदि में वृद्धि होती है। कष्टों का निवारण होता है। इस दिन पौधारोपण करने से मानसिक और शारीरिक स्थायित्व मिलता है।

गरीबों, असहायों को करें दान-पुण्य

ज्योतिषशास्त्री पं. दिनेश मिश्रा का कहना है कि शनिश्चरी हरियाली अमावस्या के दिन गरीबों, असहाय लोगों को दान-पुण्य करना चाहिए। इससे जहां भगवान भोलेनाथ प्रसन्न होते हैं, वहीं शनिदेव की हमेशा कृपा बनी रहती है।

पितरों को खुश करने के लिए लगाएं अपनी राशि के अनुसार पौधा, मिलेगा स्वास्थ्य, सौभाग्य, मानसिक स्थायित्व

राशि के अनुसार कौनसा पौधा लगाएं

मेष : पीपल, बड़

वृष : अशोक, शमी

मिथुन : नीम, सागवान

कर्क : आम, बिल्व

सिंह : देवदार, शीशम

कन्या : जामुन, कदम

तुला : गुलमोहर, गुलर

वृश्चिक : अनार, आंवला

धनु : नीलगिरी, बड़

मकर : खजूर, पलाश

कुंभ : बांस और नारियल

मीन : चीड़ और चंदन

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..