जयपुर

--Advertisement--

गदेखार नाले पर एनीकट निर्माण के प्रस्ताव अटके

कस्बे सहित आसपास के गांवों में भूजल स्तर बढ़ाने एवं 52 तालाबों में पानी पहुंचाने के लिए करौली धौलपुर सांसद डा मनोज...

Dainik Bhaskar

Apr 17, 2018, 02:45 AM IST
कस्बे सहित आसपास के गांवों में भूजल स्तर बढ़ाने एवं 52 तालाबों में पानी पहुंचाने के लिए करौली धौलपुर सांसद डा मनोज राजौरिया की अनुशंसा पर गदेखार नाले पर एनीकट निर्माण के लिए करीब तीन साल पूर्व जल संसाधन विभाग द्वारा सर्वे कर बनाए गए प्रस्तावों को अब जल संसाधन विभाग ने यह कहकर खारिज कर दिया है कि गदेखार नाले पर एनीकट निर्माण उनके अधिकार क्षेत्र मंक नहीं है क्योंकि यह वन क्षेत्र में आता है इसका खुलासा तब हुआ जब मासलपुर के गांव बडापुरा निवासी मनीराम मीना द्वारा राजस्थान संपर्क पोर्टल पर इस मामले की जानकारी के लिए परिवाद लगाया गया। गौरतलब है कि मासलपुर सहित आसपास के गांवों में लगातार अकाल के हालातों के चलते भूजल स्तर कम होता जा रहा है मासलपुर के कुओं में पानी नहीं है गर्मी के दिनों में नलकूपों में पाइप बढाने पर पानी आता है ऐसे में किसान परेशान है गांवों में पानी की समस्या का सामना करना पड़ रहा है ग्रामीणों द्वारा मासलपुर के पास गदेखार नाले पर एनीकट निर्माण कराने की मांग लम्बे समय से की जा रही है। ग्रामीणों की मांग पर करौली धौलपुर सांसद डा मनोज राजौरिया ने वर्ष 2016 में जल संसाधन मंत्री को दिए पत्र में गदेखार नाले पर एनीकट के जीर्णोद्धार एवं 52 तालाबों में पानी पहुंचाने के लिए राशि स्वीकृत कराने की अनुशंसा की गई इसके वाद जल संसाधन विभाग द्वारा तकमीना बनाकर डीपीआर के माध्यम से प्रस्ताव बनाए गए लेकिन तीन साल वाद जल संसाधन विभाग द्वारा इन प्रस्तावों को यह कहते हुए खारिज कर दिया है कि यह उनके कार्यक्षेत्र में नहीं आता है

इस मामले में करौली - धौलपुर सांसद डाॅ. मनोज राजौरिया का कहना है कि मासलपुर तहसील के किसानों के लिए गदेखार नाले पर एनीकट का निर्माण कराया जाना आवश्यक है जल संसाधन विभाग के अधिकारियों ने प्रस्तावों को खारिज किया है इस मामले को लेकर वह शीघ्र ही मुख्यमंत्री महाेदया से मुलाकात कर गदेखार नाले पर एनीकट निर्माण कराने के कार्य को स्वीकृत कराने का प्रयास करेंगे इस मामले को उनके द्वारा गंभीरता से लिया जाएगा।

X
Click to listen..