राजस्थान / 1100 किलोमीटर दूर जूनागढ़ से जयपुर लाई गई शेरनी सुजैन, नाहरगढ़ बायलोजिकल पार्क में रहेगी



lioness suzain reach jaipur nahargarh biological park from junagarh
X
lioness suzain reach jaipur nahargarh biological park from junagarh

  • शेरनी सुजैन की जोड़ी शेर सिद्धार्थ के साथ बनाई जाएगी
  • इससे पहले सिद्धार्थ को शेरनी तेजिका के साथ करीब ढाई साल पहले जयपुर लाया गया था

Dainik Bhaskar

Jul 13, 2019, 01:11 PM IST

विजय सिंह, जयपुर. जयपुर के नाहरगढ़ बायलोजिकल पार्क में करीब डेढ़ साल से अकेले रह रहे शेर सिद्धार्थ को शनिवार को साथी मिल गया। 1100 किलोमीटर दूर गुजरात के जूनागढ़ से एशियाटिक शेरनी सुजैन को जयपुर लाया गया है। सुजैन की जोड़ी सिद्धार्थ के साथ बनाई जाएगी। इससे पहले सिद्धार्थ को शेरनी तेजिका के साथ करीब ढाई साल पहले जयपुर लाया गया था, लेकिन शावकों जन्म देने के बाद बीमारी के चलते तेजिका की मौत हो गई थी। तभी से सिद्धार्थ अकेला रह रहा था। 

 

21 दिन रखेंगे आब्जर्वेशन में

सुजैन को एक्सचेंज प्रोग्राम के तहत जयपुर लाया गया है। बदले में वूल्फ और डेजर्ट फोक्स के साथ अन्य जानवर दिए गए हैं। अब सुजैन को 21 दिन आब्जर्वेशन में रखा जाएगा और धीरे-धीरे जयपुर के माहौल में ढाला जाएगा। इसके बाद बाद उसे खुले में छोड़ा जाएगा। अब 10 वर्ष की सुजैन के साथ यहां छह एशियाटिक शेरों की फेमिली हो गई है, जिसमें से शावकों तेजस, त्रिपुर और तारा को लॉयन सफारी में रखा गया है। वहीं, प्रदेश में एशियाटिक लॉयन की संख्या 11 हो गई है। जयपुर के अलावा जोधपुर के माचिया बायोलॉजिकल पार्क में 4 और उदयपुर के सज्जनगढ़ बायोलॉजिकल पार्क में एशियाटिक लॉयन का एक पेयर है। 

COMMENT