एक्शन / महावीर मीणा हत्याकांड में फरार बदमाश शिवराज सिंह ने किया सरेंडर, 10 दिन पहले सरेराह मारी थी गोली



महावीर मीणा उर्फ विक्की, जिसकी हत्या की गई महावीर मीणा उर्फ विक्की, जिसकी हत्या की गई
नागौर मकराना में पुलिस गिरफ्त में आया शिवराज सिंह नागौर मकराना में पुलिस गिरफ्त में आया शिवराज सिंह
X
महावीर मीणा उर्फ विक्की, जिसकी हत्या की गईमहावीर मीणा उर्फ विक्की, जिसकी हत्या की गई
नागौर मकराना में पुलिस गिरफ्त में आया शिवराज सिंहनागौर मकराना में पुलिस गिरफ्त में आया शिवराज सिंह

  • जयपुर कमिश्नरेट की क्राइम ब्रांच ने करवाया मकराना, नागौर में सरेंडर
  • आरोपी ने आपसी रंजिश में फेसबुक पर दी थी जान से मारने की धमकी

Dainik Bhaskar

Oct 15, 2019, 05:57 PM IST

उदय चौधरी/जयपुर. शहर के हरमाड़ा थाना इलाके में 5 अक्टूबर को सुबह 10 बजे लोहामंडी रोड पर मुरलीपुरा महावीर मीणा उर्फ विक्की हत्याकांड में फरार नामजद बदमाश शिवराज सिंह ने मंगलवार को नागौर जिले के मकराना में सरेंडर कर दिया। पिछले करीब 10 दिन से फरार शिवराज सिंह को पकड़ने के लिए कई थानों की पुलिस के अलावा जयपुर पुलिस कमिश्नरेट की सीआईयू टीम लगी हुई थी।

 

इसी बीच एएसआई द्वारकाप्रसाद की सूचना पर पुलिस इंस्पेक्टर लखन खटाना के नेतृत्व में गठित पुलिस टीम ने नागौर पहुंची। जहां शिवराज सिंह पर चौतरफा बनाया गया। पुलिस के दबाव को देखते हुए शिवराज सिंह ने जयपुर पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया। इसके बाद पुलिस टीम उसे लेकर जयपुर रवाना हो गई। इस टीम में एएसआई पुरुषोत्तम, एएसआई राजेश शर्मा व कांस्टेबल महिपाल भी शामिल रहा।

 

सबसे अहम बात यह कि जयपुर पुलिस की इस कार्रवाई की भनक मकराना पुलिस को नहीं लगी। यह कार्रवाई एडिशनल पुलिस कमिश्नर अशोक कुमार गुप्ता व डीसीपी कावेंद्र सागर के निर्देशन में की गई। इससे पहले महावीर मीणा हत्याकांड में आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए भाजपा सांसद किरोड़ीलाल मीणा के नेतृत्व में सैंकड़ों की संख्या में परिजनों व परिचितों ने पुलिस कमिश्नरेट कार्यालय पहुंचकर ज्ञापन दिया था।

 

एडिशनल पुलिस कमिश्नर अशोक गुप्ता ने बताया कि शिवराज सिंह उर्फ कालू निवासी गांव जसुरिया, मकराना, नागौर का रहने वाला है। वह जयपुर में करधनी क्षेत्र के सूर्य नगर में रह रहा है। वह करधनी थाने का हिस्ट्रीशीटर है। उसके खिलाफ करधनी, झोटवाड़ा, बजाज नगर, विजय नगर, भिनाय सहित कई थानों में गंभीर धाराओं में आपराधिक केस दर्ज है।

 

बताया जा रहा है कि उसकी रिकवरी का काम करने वाले मुरलीपुरा निवासी महावीर मीणा से आपसी रंजिश चल रही थी। तब फेसबुक पर शिवराज ने महावीर को जान से मारने की धमकी दी थी। इसके बाद 5 अक्टूबर को लोहामंडी रोड पर महावीर मीणा अपने साथी के साथ बाइक पर जा रहा था।

 

तभी अज्ञात बदमाशों ने महावीर मीणा की दो गोलियां मारकर हत्या कर दी। वारदात के बाद परिजनों ने शिवराज व उसकी गैंग पर हत्या का आरोप लगाते हुए हरमाड़ा थाने में केस दर्ज करवाया। तब से हरमाड़ा थाना पुलिस और क्राइम ब्रांच की टीम शिवराज व उसके साथियों की तलाश में जुटी हुई थी। जिसमें शिवराज को मंगलवार को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त कर ली।

 

DBApp

 

 
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना