--Advertisement--

मकर राशि में रहेगा मंगल का प्रभाव, तुला राशि का लाभ बढ़ेगा

अमूमन 40 से 45 दिन तक एक राशि में रहता है मंगल, पहली बार इतने लंबे समय तक एक ही राशि में रहेगा

Danik Bhaskar | May 02, 2018, 05:39 AM IST

जयपुर. ज्येष्ठ कृष्ण द्वितीया बुधवार को मंगल ग्रह अपना स्थान बदलेगा। शाम 4:16 बजे मंगल धनु राशि से निकल कर अपनी उच्च राशि मकर में प्रवेश करेगा। पहली बार मंगल किसी राशि में सर्वाधिक छह माह तक रहेगा। हमेशा 40 या 45 दिन तक एक राशि में रहता है। छह माह बाद 6 नवंबर सुबह 8:21 बजे मकर से विचरण कर कुंभ राशि में जाएगा। मकर में मंगल का प्रवेश सभी राशियों के जातकों को प्रभावित करेगा। मंगल मकर राशि में केतु से युति बनाकर राहु से समसप्तक योग बनाएगा। यह योग व्यापार जगत में अच्छी तेजी का रुख दर्शाता है। शेयर बाजार में तेजी आ सकती है। किसानों के लिए अच्छी बरसात के भी संकेत हैं। यह योग भारतीय और राज्य प्रशासनिक व पुलिस सेवाओं से जुड़े अधिकारियों लिए भी तरक्की के शुभ संकेत दे रहा है।

- ज्योतिषशास्त्री पं. दिनेश मिश्रा ने बताया कि जब भी यह ग्रह उच्च राशि में रहेगा तब इन सभी वर्गों के लिए लाभदायक रहेगा। उच्च राशि मकर में रहते हुए मंगल हमेशा उत्साह बढ़ाएगा।

मैकेनिकल लाइन से जुड़े लोगों के लिए लाभदायक
किसी भी विषय-वस्तु के बारे में जानने की अभिलाषा भी मंगल ही लाता है। अपनी उच्च राशि मकर में आने पर मंगल विज्ञान, शिक्षा और खासकर मैकेनिकल लाइन में लाभ दिलाएगा।

रौड़ी, बजरी में आ सकती है तेजी
ज्योतिषशास्त्र में मंगल को धरती पुत्र माना गया है। इससे जब भी यह अपनी उच्च राशि में प्रवेश करता है तो जमीन से जुड़े व्यापारियों के लिए लाभदायक रहेगा। वहीं माइंस, रौड़ी व बजरी आदि की कीमतों में तेजी आ सकती है।

मिलेगी सफलता, निर्णय होंगे प्रभावित
- मकर, मेष, कर्क, सिंह- आर्थिक रूप से परेशान, निर्णय प्रभावित और सोचने-विचारने में दिक्कत हो सकती है।
- वृष, तुला, वृश्चिक, मीन- सफलतादायक, लाभ दिलाएगा, शत्रु परास्त होंगे और विवादों में विजय प्राप्त होगी।
- मिथुन, कन्या, धनु, कुंभ- संचय धन का खर्च, भागदौड़ ज्यादा, व्यापार में परेशानी, स्वास्थ्य नरम हो सकता है।
-(पं. दिनेश मिश्रा के अनुसार)