लोकसभा चुनाव / भाजपा-कांग्रेस में आज होंगी बैठकें- 25 सीटों पर 260 दावेदार; 11 सीटोंपर नाम लगभग तय

Dainik Bhaskar

Mar 17, 2019, 03:33 AM IST


Meetings in BJP-Congress for Lok Sabha tickets today
X
Meetings in BJP-Congress for Lok Sabha tickets today
  • comment

  • वसुंधरा राजे प्रत्याशियों के नामों को लेकर पार्टी अध्यक्ष अमित शाह से दिल्ली में मुलाकात करेंगी
  • कांग्रेस के 11 सीटों पर प्रत्याशियों के नाम लगभग फाइनल

जयपुर. लोकसभा चुनाव का ऐलान होते ही भाजपा और कांग्रेस में उम्मीदवारों तय करने के लिए बैठकें और मंथन का दौर शुरू हो गया है। राजस्थान की 25 सीटों के लिए भाजपा में अब तक 260 दावेदार सामने आ चुके हैं। कांग्रेस में भी लोकसभा चुनाव में उतारे गए ज्यादातर प्रत्याशी इस बार विधायक या मंत्री बन चुके हैं। ऐसे में पार्टी को नए प्रत्याशी उतारने के लिए अतिरिक्त होमवर्क करना पड़ रहा है। हालांकि कांग्रेस के करीब 11 प्रत्याशियों के नाम तय हैं।

 

सबसे ज्यादा 29 दावेदार अजमेर से, जयपुर शहर से 13 तो ग्रामीण से 11 दावेदार :

प्रदेश की 25 संसदीय सीटों के लिए भाजपा में अब तक 260 दावेदार सामने आ चुके हैं। इनमें मौजूदा सांसदों के अलावा विधायक, पूर्व विधायक और संगठन पदाधिकारी शामिल हैं। अजमेर, भरतपुर, दौसा, नागौर, करौली, टोंक-सवाईमाधोपुर व जयपुर में नामों की बड़ी फेहरिस्त है। 

 

अजमेर में सबसे ज्यादा 29 नाम सामने आए हैं। जयपुर शहर से 13 व ग्रामीण से 11 दावेदार हैं। इन नामों से फाइनल पैनल बनाने के लिए शनिवार को पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के आवास पर भाजपा कोर कमेटी के पदाधिकारियों की बैठक बुलाई गई। रविवार को वसुंधरा राजे प्रत्याशियों के नामों को लेकर पार्टी अध्यक्ष अमित शाह से दिल्ली में मुलाकात करेंगी। प्रदेशाध्यक्ष मदन लाल सैनी का कहना है कि टिकट दावेदारों के जो नाम सामने आए हैं उनकी छंटनी का काम दो दिन में पूरा कर लिया जाएगा।

 

उन्होंने बताया कि इसके लिए हर संसदीय सीट पर वहां के जिलाध्यक्षों, महामंत्री व संगठन के अन्य लोगों से बातचीत कर पैनल फाइनल किया जाएगा। 21 मार्च को भाजपा पार्लियामेंट्री बोर्ड की बैठक संभावित है। इसमें ये नाम रखे जाएंगे और इसी के बाद नाम फाइनल किए जाएंगे। बैठक की तारीख एक-दो दिन आगे-पीछे हो सकती है। 

 

शनिवार को हुई बैठक में राजे के अलावा प्रदेश चुनाव प्रभारी केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर, प्रदेशाध्यक्ष मदन लाल सैनी, नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया, प्रदेश संगठन महामंत्री चंद्रशेखर शामिल हुए।

 

2014 में जो सांसद प्रत्याशी थे, वे अब विधायक-मंत्री बने, चेहरे ढूंढ़ने की चुनौती :

कांग्रेस में भी टिकट फाइनल करने के लिए माथापच्ची जारी है। हालांकि, भाजपा जैसी स्थिति नहीं है। कांग्रेस के 11 सीटों पर प्रत्याशियों के नाम लगभग फाइनल हैं। पार्टी ने 2014 के लोकसभा चुनाव में जो प्रत्याशी उतारे थे उनमें से 12 इस विधानसभा चुनाव के बाद विधायक या मंत्री बन चुके हैं। ऐसे में मौजूदा विधायक-मंत्रियों को टिकट देने से पार्टी बच रही है। 

 

पार्टी को इन सीटों पर दमदार चेहरे नहीं मिल रहे। ऐसे में नए जिताऊ चेहरों की खोज करना सबसे बड़ी चुनौती है। रविवार को पार्टी के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल के साथ मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट, प्रदेश प्रभारी अविनाश पांडे और चारों सह प्रभारियों की बैठक होगी। इसमें हर सीट के लिए प्रत्याशियों के नाम फाइनल होने की संभावना है। हालांकि प्रत्याशियों के नामों का ऐलान अभी नहीं होगा। होली के बाद ये नाम केंद्रीय चुनाव समिति में भेजे जाएंगे। वहां से मंजूरी मिलने के बाद सूची जारी कर दी जाएगी।

 

उल्लेखनीय है कि पिछले तीन दिन से मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट, प्रदेश प्रभारी अविनाश पांडे सहित अन्य मंत्री राज्य में कांग्रेस के पक्ष में माहौल बनाने के लिए चुनावी रैलियां कर रहे हैं। इस दौरान पार्टी के भीतर ही कई शहराें में मतभेद सामने आ रहा है। कई सीटों पर पार्टी के कई बड़े नेताओं ने सभाओं से दूरी बनाकर रखी। ऐेसे में सभी वर्गाें और पदाधिकारियों को साधकर चलना भी चुनौती है।

 

इन सीटों पर नाम लगभग तय- 

11 लोकसभा सीटों पर कांग्रेस ने अपने प्रत्याशी लगभग तय कर लिए हैं। इनमें सीकर से सुभाष महरिया, अलवर से जितेंद्र सिंह, टोंक-सवाईमाधोपुर से नमोनारायण मीणा, उदयपुर से रघुवीर मीणा, नागौर से ज्योति मिर्धा, चित्तौड़गढ़ से गोपाल सिंह ईडवा, जोधपुर से वैभव गहलोत, झालावाड़-बारां से उर्मिला जैन, बाड़मेर से मानवेंद्र सिंह, पाली से बद्री जाखड़, दौसा से मुरारी लाल मीणा या उनकी पत्नी में से एक को टिकट मिलना तय माना जा रहा है। हालांकि अंतिम फैसला पार्टी हाईकमान के स्तर पर ही होना है।

 

 

COMMENT
Astrology
Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन