--Advertisement--

कांस्टेबल भर्ती परीक्षा: पेपर देने के नाम पर Rs.3 लाख ठगे, परीक्षा से एक घंटा पहले गिरफ्तार

कोटड़ा में नकल गिरोह से जुड़े होने के संदेह पर 1 अध्यापक को पकड़ा

Danik Bhaskar | Jul 15, 2018, 05:43 AM IST

डीडवाना (नागौर). कांस्टेबल भर्ती परीक्षा में नकल कराने और पेपर आउट के नाम पर अभ्यर्थियों से Rs.3 से ‌‌Rs.3.50 लाख ठगने वाला गिरोह अब भी सक्रिय है। परीक्षा के दिन भी पुलिस ने प्रदेशभर में कार्रवाई कर कई लोगों को गिरफ्तार किया तो कई संदिग्धों को हिरासत में लिया है। हैरानी की बात है कि अभ्यर्थियों को नकल कराने का झांसा देने वालों में अधिकतर या तो स्कूल संचालक हैं या कोचिंग सेंटर संचालक।

शनिवार को नागौर जिले के डीडवाना में पुलिस ने पैसे लेकर परीक्षा से पूर्व पेपर उपलब्ध कराने की फिराक में घूम रहे एक युवक को गिरफ्तार कर इसके नेटवर्क का खुलासा किया है। हालांकि पुलिस पेपर बरामद नहीं कर पाई है। मामले में पुलिस ने कुल दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है, जबकि एक आरोपी फरार हो गया। राहड़ों की ढाणी निवासी सुरेश कुमार राहड़ को कस्बा डीडवाना में परीक्षार्थियों को अनुचित तरीके से परीक्षा से पूर्व पेपर उपलब्ध करवाने के नाम पर ठगी की फिराक को देखते हुए पुलिस ने पूछताछ की। उसने बताया कि नोलाराम, कॉलोनी चावड़िया निवासी जो सीकर जिले के धोद क्षेत्र में कोचिंग चलाता है वह उसे पेपर देने वाला था। इस पर पुलिस ने नोलाराम को भी गिरफ्तार कर लिया। एक आरोपी फरार है।

परीक्षा के दिन भी नकल गिरोह सक्रिय, डीडवाना में कोचिंग संचालक समेत 2, कोटड़ा में 1 शिक्षक पकड़ा
बाड़मेर
. जिला मुख्यालय पर आयोजित पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा के दौरान एक अध्यापक समेत तीन फर्जी परीक्षार्थियों को पकड़ा। ये तीनों दूसरे की जगह परीक्षा देने आए थे, लेकिन बायोमेट्रिक जांच के दौरान पकड़े गए। पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार किया।

फर्जी अभ्यर्थी कर सकते हैं बड़ा खुलासा: सदर थाने के सब इंस्पेक्टर चुन्नीलाल ने बताया कि महाराजा पब्लिक स्कूल केंद्र से दिनेश पुत्र भैराराम विश्नोई निवासी सेड़िया पुलिस थाना करड़ा व राकेश पुत्र बाबूलाल निवासी सरनाऊ तथा गणेश विद्या मंदिर स्कूल से भंवरलाल पुत्र जालाराम विश्नोई निवासी धमाणा गोलिया हाल अध्यापक हाड़ेतर सांचोर को गिरफ्तार किया है। ये तीनों क्रमश: लादूराम पुत्र मालाराम निवासी रणोदर, भजनलाल पुत्र श्रीराम विश्नोई निवासी दाता व धर्मेंद्र पुत्र हरलाल निवासी लोहारना की जगह परीक्षा देने आए थे। बायोमेट्रिक जांच के दौरान पुलिस ने इन्हें पकड़ लिया।

पुलिस सतर्क : संदिग्धों से कर रही पूछताछ
अलवर.
कांस्टेबल भर्ती परीक्षा से पहले अभ्यर्थियों को प्रश्नपत्र लीक करने एवं पास कराने का झांसा देने के आरोप में पुलिस ने शुक्रवार देर रात दो लोगों को हिरासत में लिया। इनमें 60 रोड स्थित स्वराज पब्लिक स्कूल के संचालक मनोज भार्गव से एनईबी थाने में एवं बाबू शोभाराम कला महाविद्यालय के रिटायर्ड प्रोफेसर पीसी मीणा से अरावली विहार थाना पुलिस पूछताछ कर रही है। भार्गव व पूर्व प्रोफेसर मीणा अभ्यर्थियों को पेपर लीक करने के साथ पास कराने का झांसा दिया था।

अलवर : रिटायर्ड प्रोफेसर और निजी स्कूल संचालक हिरासत में
उदयपुर जिले के 24 सेंटरों पर शनिवार को दो पारियाें में हुई कांस्टेबल भर्ती परीक्षा में कुल 20645 अभ्यर्थियों ने हिस्सा लिया। इधर, पुलिस ने नकल गिरोह से जुड़े होने के संदेह पर देर रात कोटड़ा में से एक अध्यापक को पकड़ा है। मामला दर्ज नहीं है, पर पूछताछ जारी है।