राजस्थान / नीट पीजी : एसएमएस कॉलेज ने काउंसलिंग कराने से इनकार किया, मेडिकल शिक्षा निदेशालय ने कहा- मना नहीं कर सकते

NEET PG: SMS College refused to hold counseling, Directorate of Medical Education said- Can not refuse
X
NEET PG: SMS College refused to hold counseling, Directorate of Medical Education said- Can not refuse

  • एसएमएस मेडिकल कॉलेज प्रिंसिपल भंडारी ने कहा- हमारा काम पढ़ाना काउंसलिंग नहीं करवाएंगे
  • चिकित्सा शिक्षा विभाग के सेक्रेट्री गालरिया ने कहा- मना नहीं कर सकते, एसएमएस में ही होती रही है

दैनिक भास्कर

Feb 07, 2020, 12:03 AM IST

जयपुर (डूंगरसिंह राजपुरोहित). नीट-पीजी 2020 का 30 जनवरी को परिणाम आने के साथ ही एसएमएस मेडिकल काॅलेज और निदेशालय चिकित्सा शिक्षा आमने-सामने हो गए हैं। अब तक काउंसलिंग आयोजित करवाते रहे एसएमएस मेडिकल काॅलेज ने साफ इनकार कर दिया है कि हम नीट पीजी की काउंसलिंग नहीं करवा सकते। यह काम मेडिकल शिक्षा निदेशालय का है। दूसरी तरफ निदेशालय ने रिप्लाई में कड़ा पत्र लिखा है कि नीट काउंसलिंग का काम पूर्व वर्षों की भांति एसएमएस मेडिकल काॅलेज में ही संपादित किया जाएगा। मेडिकल शिक्षा में ऐसी टकराहट पहली बार सामने आई है। चिकित्सा शिक्षा सचिव वैभव गालरिया का भी कहना है कि नीट पीजी काउंसलिंग तो जयपुर में ही होगी। बड़ा संकट यह खड़ा हो गया है कि अब तक काउंसलिंग की तिथि घोषित होकर शुरू करने की तैयारी होनी चाहिए थी, लेकिन काॅलेज और विभाग विवाद में उलझ चुके हैं। इस बार अब कैसे और कब होगी काउंसलिंग?

पहली बार बड़ा संकट- काउंसलिंग करवाएगा कौन?

एसएमएस मेडिकल कॉलेज प्रिंसिपल डाॅ. सुधीर भंडारी ने कहा कि मेडिकल काॅलेज शिक्षक टेक्निकल और लीगल एक्सपर्ट नहीं हैं। काउंसलिंग में कई लीगल विवाद होते हैं। हमारा काम पढ़ाना है। काउंसलिंग करवाने से मेडिकल काॅलेज की काफी लंबे समय शिक्षण प्रभावित होता है। यह काम पूरे देश में मेडिकल शिक्षा निदेशालय करवा रहा है। यहां भी निदेशालय ही करवाए। हम नहीं करवाएंगे। 
 

काउंसलिंग तो जयपुर में ही होगी

चिकित्सा शिक्षा विभाग के सचिव वैभव गालरिया ने कहा कि नीट पीजी की काउंसलिंग तो जयपुर में ही होगी। ज्यादा कहना ठीक नहीं होगा।

90 हजार डॉक्टर कर रहे है पीजी में प्रवेश का इंतजार
30 जनवरी को मेडिकल शिक्षा में पीजी कोर्स में प्रवेश के लिए आयोजित किए जाने वाले नीट-2020 का परिणाम आया। देशभर में 90 हजार डॉक्टर चयनित हुए। काउंसलिंग की तिथि तय करने और सफल अभ्यर्थियों को बुलाने का समय आया तो एसएमएस मेडिकल काॅलेज ने इनकार कर दिया। मामला मंत्री तक पहुंचा तो उन्होंने एसएमएस से ही काउंसलिंग करवाने को कहा। अब चिकित्सा शिक्षा निदेशालय के अतिरिक्त निदेशक राजनारायण शर्मा ने एसएमएस मेडिकल काॅलेज प्राचार्य को लिखा है कि उच्च सक्षम स्तर से स्वीकृति के अनुसार पूर्व वर्षों की भांति नीट काउंसलिंग एसएमएस ही करवाए।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना