गुर्जर आरक्षण आंदोलन / आंदोलन के लिए युवा व बुजुर्ग खेतों से होकर पटरियों तक पहुंचे



people captured the railway track during Gujjar agitation
people captured the railway track during Gujjar agitation
X
people captured the railway track during Gujjar agitation
people captured the railway track during Gujjar agitation

  • गलवा नदी की पुलिया के पास ट्रैक पर कब्जा कर लिए जाने से पूरा रेलवे नेटवर्क प्रभावित
  • जयपुर-सवाई माधोपुर रेलमार्ग पर जगह जगह ट्रेनें खड़ी रह गई

Dainik Bhaskar

Feb 14, 2019, 01:36 AM IST

चौथ का बरवाड़ा. गुर्जर समाज की ओर से पांच फीसदी आरक्षण की मांग को लेकर किया जा रहा आंदोलन मंगलवार को चौथ का बरवाड़ा पहुंच गया। अब तक दिल्ली-मुंबई रेलमार्ग प्रभावित था तथा ट्रेनों को जयपुर-सवाई माधोपुर होकर निकाला जा रहा था, लेकिन दोपहर में समाज के लोगों द्वारा गलवा नदी की पुलिया के पास ट्रैक पर कब्जा कर लिए जाने से पूरा रेलवे नेटवर्क प्रभावित हो गया है। रेलवे ट्रैक पर गुर्जर आने तथा अपनी मांगों को पूरा नहीं होने तक ट्रैक नहीं छोड़े जाने की बात कही जाने पर जयपुर-सवाई माधोपुर रेलमार्ग पर जगह जगह ट्रेनें खड़ी रह गई। ऐसे में यात्री बुरी तरह से परेशान है।  

 

मंगलवार को दोपहर भारी भरकम पुलिस लवाजमे के बावजूद गुर्जर समाज के लोगों ने रेल पटरियों पर अपना कब्जा जमा लिया। गुर्जर समाज के लोगों ने चौथ का बरवाड़ा से दो किलोमीटर दूर पांवडेरा मार्ग पर स्थित गलवा नदी के पास ट्रैक पर अपना कब्जा जमा लिया है। यहां कब्जा जमाने के बाद लोग भगवान देवनारायण की जय लगाते नजर आए तथा रसिया पर नृत्य भी किया। ट्रैक पर जमा गुर्जर समाज के लोगों का कहना है कि वो अब ट्रैक से तभी हटेंगे जब या तो सरकार उन्हें आरक्षण दें या फिर कर्नल बैसला कहे। रेल ट्रैक पर कई छोटे बच्चे भी अपने परिवार के साथ आ जमा हुए है। 
 

चौथ का बरवाड़ा क्षेत्र में आंदोलन की शुरुआत रजमाना गांव के पास धार्मिक स्थल पर महापंचायत से हुई। यहां सुबह से ही गुर्जर समाज के लोगों का जमावड़ा शुरू हो गया। इसके बाद लोगों ने जयपुर-सवाई रेलमार्ग जाम करने की बात कही। कुछ लोग ऐसा नहीं करने की बात भी कहते रहे। बाद में यह मामला कर्नल बैसला पर डाल दिया गया। कर्नल बैसला की ओर से विजय बैसला ने फोन पर रेलवे ट्रैक जाम करने की जैसे ही चेतावनी दी, समाज के लोग गलवा नदी व खेतों में होकर रेलवे ट्रैक की ओर दौड़ पड़े।  
 

COMMENT