--Advertisement--

जयपुर / रिकाॅर्ड तोड़ जैपर... चुण ळी आपणी सरकार



वोट देने का जज्बा दिखा-माणक चौक स्कूल मतदान केंद्र पर 50 वर्षीय सुशील अग्रवाल विकलांग को कुर्सी पर बिठाकर मतदान केंद्र पर लाते सहयोगी। वोट देने का जज्बा दिखा-माणक चौक स्कूल मतदान केंद्र पर 50 वर्षीय सुशील अग्रवाल विकलांग को कुर्सी पर बिठाकर मतदान केंद्र पर लाते सहयोगी।
X
वोट देने का जज्बा दिखा-माणक चौक स्कूल मतदान केंद्र पर 50 वर्षीय सुशील अग्रवाल विकलांग को कुर्सी पर बिठाकर मतदान केंद्र पर लाते सहयोगी।वोट देने का जज्बा दिखा-माणक चौक स्कूल मतदान केंद्र पर 50 वर्षीय सुशील अग्रवाल विकलांग को कुर्सी पर बिठाकर मतदान केंद्र पर लाते सहयोगी।

Dainik Bhaskar

Dec 08, 2018, 08:18 AM IST

जयपुर. बधाई हो! इस बार जयपुर ने वोटिंग में पिछली बार का रिकॉर्ड तोड़ ही दिया। निर्वाचन विभाग की वेबसाइट पर शुक्रवार देर रात लगातार अपडेट हो रहे आंकड़ाें के मुताबिक, जयपुर जिले की 19 विधानसभा सीटों पर इस बार 74.91 प्रतिशत मतदान हुआ, जो पिछले विधानसभा चुनाव के मुकाबले 0.67 प्रतिशत ज्यादा है। वर्ष 2013 में कुल 74.24 प्रतिशत मतदान हुआ था। हालांकि जिला निर्वाचन विभाग को इससे कहीं ज्यादा वोटिंग की उम्मीद थी। 

 

इस बार जिले में सबसे ज्यादा मतदान चौमूं विधानसभा में 83.85 फीसदी रहा। जबकि सबसे कम मालवीयनगर विधानसभा में 67.90 फीसदी मतदान हुआ। यह आंकड़ा पिछली बार हुए मतदान से भी कम है। शहरी सीटों में सबसे ज्यादा मतदान विद्याधरनगर विधानसभा में 72.84 प्रतिशत मतदान हुआ। पिछले 5 साल में जयपुर जिले में 6 लाख 72 हजार 410 मतदाता बढ़े हैं, लेकिन इनमें से करीब 2 लाख वोट डालने ही नहीं पहुंचे। वहीं, वोटिंग मशीनों के हैंग होने के चलते भी मतदान केंद्रों से कई वोटर बिना वोट दिए घरों को लौट गए। आदर्श और महिला मतदान केंद्र भी मतदान प्रतिशत बढ़ाने में नाकाम रहे।

 

 

Assembly Election 2018

 

एक-एक वोट डलने में लगा समय; ईवीएम से 35 सेकंड में डलता था वोट, वीवीपैट जुड़ने पर 45 सेकंड लगे, तभी कम मतदान

ईवीएम के साथ वीवीपैट जुड़ने से वोटर को वोट डालने में करीब 10 सेकंड का ज्यादा समय लगा। प्रदेश में एक बूथ पर औसतन 920 वोट हैं। एक वोटर वोट डालने में कम से कम 42 सेकंड भी लगाए और बूथ पर 800 वोट भी डले तो कुल मतदान में 560 मिनट लगे। जबकि मतदान के लिए सुबह 8 से शाम 5 बजे तक 9 घंटे में सिर्फ 480 मिनट ही मिलते हैं।

 

Assembly Election 2018

 

ईवीएम खराब हुईं; कई बूथों पर ईवीएम तो कहीं वीवीपैट खराब होने से व्यवस्था बिगड़ी, इंतजार के बाद कई वोटर लौटे

आगरा रोड पर रॉयल इंटरनेशनल स्कूल में लंबी लाइन के बावजूद सुबह 10 से 11 बजे तक केवल 80 वोट डले। सांगानेर विधानसभा क्षेत्र स्थित त्रिवेणी नगर के तिलक पब्लिक स्कूल में सुबह 9 बजे ईवीएम खराब होने के करीब एक घंटे बाद दूसरी ईवीएम मंगवाई गई और वोटिंग शुरू हुई। ऐसे ही 188 बूथों पर मशीनें खराब होने की सूचनाएं आईं। कांग्रेस-बीजेपी ने शिकायतें भी की हैं।

 

प्रशासन की खराब व्यवस्था; करीब 800 बूथों पर देरी से शुरू हुआ मतदान, यहां दिव्यांग-बुजुर्गों के लिए व्हीलचेयर तक नहीं थीं

ईवीएम और वीवीपैट देरी से चालू होने पर करीब 800 बूथों पर मतदान लेट शुरू होनें की शिकायतें मिलीं। वहीं, कई बूथों पर दिव्यांग और बुजुर्ग वोटरों के लिए व्हीलचेयर तक नहीं थीं। कई वाेटरों ने लिस्ट से नाम कटने की शिकायत भी की। इनमें मालवीय नगर के संदीप शर्मा, विजय पथ तिलक नगर की उषा खेर, ज्योति नगर हाउसिंग बोर्ड की अनीता शामिल हैं।

Bhaskar Whatsapp
Click to listen..