जयपुर में एक दिन में 14 और दिल्ली में 22 सिगरेट जितना धुआं निगल रहे लोग

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
दिल्ली में प्रदूषण का विरोध हुआ। एक प्रदर्शनकारी ऐसा खाैफनाक चेहरा लगाए था, जैसा दिल्ली में अभी हवा का है। - Dainik Bhaskar
दिल्ली में प्रदूषण का विरोध हुआ। एक प्रदर्शनकारी ऐसा खाैफनाक चेहरा लगाए था, जैसा दिल्ली में अभी हवा का है।
  • जयपुर : 417 एक्यूआई पहुंचा वायु प्रदूषण का स्तर
  • दिल्ली : 708 एक्यूआई पर पहुंचा, 3 साल में सबसे ज्यादा
  • प्रदेश में... भिवाड़ी सबसे प्रदूषित, एक्यूआई 500, अलवर-363, अजमेर-340 दिल्ली के पड़ोसी- गाजियाबाद-868, गुरुग्राम-737

नई दिल्ली/जयपुर. देश में दाे राजधानियाें दिल्ली व जयपुर में हवा की सेहत लगातार बिगड़ रही है। जयपुर में वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूअाई) का स्तर शनिवार के मुकाबले 19 बढ़कर रविवार काे 417 पर पहुंच गया। प्रदेश में सबसे ज्यादा प्रदूषण अलवर के भिवाड़ी शहर में 500 एक्यूअाई रहा। दूसरी तरफ दिल्ली में वायु प्रदूषण 708 एक्यूअाई पर पहुंच गया। इससे पहले 6 नवंबर 2016 काे यह 497 तक पहुंचा था।
 
लंग केयर फाउंडेशन के चेयरमैन व गंगा राम अस्पताल के चिकित्सक डॉ. अरविंद कुमार ने कहा कि पीएम 2.5 का स्तर 22 रहने पर यह एक सिगरेट के बराबर है। यदि कोई 24 घंटे 500 एक्यूआई में रहे तो 22 सिगरेट पीने के बराबर होगा। रविवार को दिल्ली में औसत एक्यूआई 497 रहा, ऐसे में लोग एक दिन में 22 सिगरेट तथा जयपुर में औसत एक्यूआई 303 रहा इस कारण लोग करीब 14 सिगरेट जितना धुआं निगल रहे हैं।

पीएम 2.5 का स्तर 1000 जाने पर यह 45 सिगरेट के बराबर हाेगी। उल्लेखनीय है कि एक्यूअाई 0 से 50 के बीच अच्छा, 51-100 के बीच संतोषजनक, 101-200 के बीच हल्का या सामान्य, 201 से 300 खराब, 301-400 बहुत खराब, 401-500 गंभीर अाैर 500 से ऊपर “खतरनाक’ श्रेणी में रखा जाता है। वायु प्रदूषण के कारण दिल्ली में सांस से संबंधित बीमारियाें का संक्रमण बढ़ गया है। सांस की बीमारी से पीड़ित सैकड़ाें मरीजाें काे अाईसीयू में रखना पड़ा है। दिल्ली के सभी अस्पतालाें में अाईसीयू पूरी तरह से भरे हैं।
 

सीएम गहलोत बोले- यह स्वास्थ्य आपातकाल, अकेले दिल्ली सरकार नहीं निपट सकती, केंद्र सहयोग करे
राजस्थान के सीएम अशोक गहलो
त ने ट्वीट किया-यह स्वास्थ्य अापातकाल है, जिससे अकेले दिल्ली सरकार नहीं निपट सकती है। केंद्र सरकार काे अागे अाना चाहिए।

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने पंजाब, हरियाणा में किसानाें के पराली जलाने पर राेक के लिए केंद्र अाैर राज्य सरकाराें से कदम उठाने का अनुराेध किया।
 

दिल्ली से 37 उड़ानें डायवर्ट, इनमें से 16 जयपुर पहुंचीं
िवजिबिलिटी कम होने के कारण दिल्ली के पालम एयरपोर्ट से सुबह 9 से दाेपहर एक बजे के बीच 37 उड़ानें लखनऊ, जयपुर, मुंबई व अमृतसर डायवर्ट की गई। इनमें से 16 फ्लाइटें जयपुर पहुंची। दिल्ली में स्कूलें पहले ही 5 नवंबर तक बंद की जा चुकी हैं। सभी निर्माणों पर भी रोक है।
 

दिल्ली में अाज से अाॅड-ईवन
प्रदूषण पर नियंत्रण के लिए दिल्ली में साेमवार से वाहनों पर सम-विषम (अाॅड-ईवन) योजना लागू हो रही है, जो 15 नवंबर तक चलेगी। पंजाब, हरियाणा में पराली जलाने के कारण दिल्ली में वायु प्रदूषण का स्तर इतना बढ़ा है।

खबरें और भी हैं...