विधानसभा / 110 विधायकों की 20 कमेटियों को 870 मीटिंग्स करनी थी, हुई केवल 28%, 130 दिन में 2.5 करोड़ के बिल बनाए



Performance of Rajasthan Legislative Committees
X
Performance of Rajasthan Legislative Committees

  • कई विधायक कमेटियों की परफॉरमेंस 20 प्रतिशत भी नहीं, हर तीन माह में तैयार होती है रिपोर्ट

Dainik Bhaskar

Oct 10, 2019, 06:51 AM IST

जयपुर (डूंगरसिंह राजपुरोहित).  राजस्थान विधानसभा में विधायकों की 20 कमेटियां बनी हैं। हर माह न्यूनतम 10 मीटिंग करने और विभागों-सरकार में अटके जनता के कार्यों को हल करवाने के लिए अफसरों को तलब करने का इनके पास अधिकार है, लेकिन चार को छोड़कर बाकी कमेटियां नाम मात्र की हैं। फिर भी मीटिंग के नाम पर इन कमेटियों ने 130 दिन में ही करीब ढाई करोड़ रुपए दैनिक भत्ते-टीए-डीए के बिल बना लिए। साढ़े चार माह में सभी विधान सभा कमेटियों की 870 मीटिंग होनी थी, लेकिन हुई केवल 244 ही। विधानसभा की कमेटियों का रिपोर्ट कार्ड 28 फीसदी ही है। कांग्रेस सरकार आने के बाद 29 मई को सभी 20 कमेटियों का गठन किया गया, जिसमें 110 विधायकों को शामिल किया गया। हर कमेटी मेंबर को एक मीटिंग्स के 2 हजार रुपए दैनिक भत्ता और इतना ही टीए-डीए उठा रहे है। हर एक कमेटी में 10 से 14 विधायक मेंबर हैं। लेकिन माह में आठ मीटिंग भी नहीं करते और भत्ते हर माह 15 दिन मीटिंग के उठा रहे। अध्यक्ष सीपी जोशी इसे लेकर सख्त है। रिपोर्ट मंगवा रहे है। 

 

कटारिया की अध्यक्षता वाली जन लेखा कमेटी सबसे आगे
नेता प्रतिपक्ष की अध्यक्षता वाली जन लेखा समिति ने अब तक चार माह में 41 मीटिंग्स की है। दूसरे नंबर पर पर्यावरण समिति है, जिसकी करीब 30 बैठकें हुई हैं। प्रश्न एवं संदर्भ समिति की भी 20 से अधिक बैठकें हुई हैं। लेकिन बार बार रिमाइंडर के बावजूद विभाग विधायकों के सवालों के  जवाब समय पर नहीं भेज रहे। आश्वासन समिति, सदाचार समिति और पुस्तकालय कमेटी की भी 20 से 21 तक प्रत्येक की मीटिंग्स हुई। बड़ा फैसला आज तक कुछ नहीं हुआ।  
 

इन कमेटियों का काम ढीला  

राजकीय उपक्रम कमेटी, प्राक्कलन कमेटी (ख), एसटी वेलफेयर कमेटी, महिला एवं बाल विकास वेलफेयर कमेटी, नियम समिति, याचिका समिति, अल्पसंख्यक वेलफेयर कमेटी, कार्य सलाहकार समिति की सबसे कम मीटिंग्स हुई। कुछ की परफॉर्मेंस 20 फीसदी भी नहीं है। 
 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना