धौलपुर / बीहड़ों में 35 किमी तक घुसे जवान, बचने के लिए विरोधी डकैत एक हुए



Police in search of Dacoit Jagan
Police in search of Dacoit Jagan
X
Police in search of Dacoit Jagan
Police in search of Dacoit Jagan

  • महिलाओं को निर्वस्त्र करने वाले डकैत जगन की दूसरे दिन भी तलाश
  • इससे एक दिन पहले पुलिस की जगन और उसके साथियों से मुठभेड़ हुई थी

Dainik Bhaskar

Jun 16, 2019, 01:55 AM IST

धौलपुर. धौलपुर जिले में एक परिवार की दो महिलाओं से मारपीट और उन्हें निर्वस्त्र कर गांव में घुमाने वाले कुख्यात डकैत जगन गुर्जर की तलाश में पुलिस के जवानों ने शनिवार को दूसरे दिन भी बीहड़ों को खंगाला। पुलिस का बढ़ता दबाव देखकर अब तक एक-दूसरे के धुर विराेधी रहे डकैत साथ आ गए हैं।

 

शनिवार को एटीएस के विशेष प्रशिक्षित 29 कमांडाे सहित 70 जवानों ने बीहडों में पैदल ही 35 किमी तक डकैतों की तलाश की। इससे एक दिन पहले पुलिस की जगन और उसके साथियों से मुठभेड़ हुई थी। डकैतों ने पुलिस पर हथगोले भी फेंके थे। शनिवार को डकैत जगन गुर्जर, रामविलास, भारत, पप्पू और केशव को पकड़ने के लिए जवान देर रात तक जगह-जगह मोर्चा लिए खड़े रहे। रिपाेर्टिंग के लिए भास्कर रिपोर्टर जितेंद्र गुप्ता व नीरज नरवार भी बीहड़ों में पहुंचे हुए हैं। 

 

डकैतों की तलाश में दोपहर करीब 12.30 बजे एटीएस के एडिशनल एसपी गुमानाराम कोटा, एटीएस डीवाईएसपी सतीश यादव जयपुर के साथ 29 विशेष प्रशिक्षित कमांडो और कंचनपुर थाना प्रभारी परमजीत की एक टीम तालाबशाही से होकर सोने का गुर्जा होते हुए मोटी कोटरा गांव पहुंची। यहां पर टीम ने घरों में तलाशी ली। इसके बाद टीम डांग इलाके में घुसते हुए पैदल करीब 8 किमी तक पैदल चलकर छज्जेवाली गांव पहुंची। यहां से जानकारी जुटाने के बाद टीम आगे बढ़ी और 4 किमी दूर गांव खरेटी गांव में पहुंची। इसके बाद 5 किमी दूर पीरीकछार और बाद में 5 किमी आगे चलकर करुवापुरा गांव में पहुंचे।


उधर, दूसरी टीम में एडिशनल एसपी राजेंद्र वर्मा, सीओ सिटी दिनेश शर्मा, बसईडांग थाना प्रभारी हीरा सिंह आरएसी के जवानों के साथ बसईडांग होते हुए पैदल बीहड़ों में घुसे। सीओ सिटी को बाबू महाराज के मंदिर के पास कुछ जवानों के साथ माेर्चा लेने काे कहकर राेका दिया गया। इसके बाद एडिशनल एसपी राजेंद्र वर्मा, बसईडांग थाना प्रभारी हीरा सिंह हथियारबंद जवानों के साथ डकैताें की तलाश करते हुए पैदल ही गांव करुवापुरा पहुंचे। तीसरी टीम में शामिल क्यूआरटी के जवान भी बीहड़ों में डकैताें की तलाश में जुटे रहे। तीनों टीमों के पहुंचने के बाद शाम करीब 5.30 बजे एडिशनल एसपी राजेंद्र वर्मा चंबल नदी के रास्ते से कांबिंग करते हुए वापस लौटे।

 

शनिवार काे डांग इलाके के बीहड़ों में करीब 35 किमी तक पैदल चलकर डकैतों की तलाश की गई। इस दाैरान डांग इलाके में बाबू महाराज मंदिर के पास क्यूआरटी की टीम को देखकर 5 डकैत नाले में कूद गए। क्यूआरटी टीम इनके पीछे लगी और दूसरी टीमों को डकैतों को आगे से घेरने का संदेश दिया। इस दाैरान बीच में अाए गांवाें में भी टीम ने घर-घर जाकर तलाशी ली। शाम करीब 5 बजे करुआपुरा गांव में दोनों टीमों के जवान मिले अाैर मोर्चा लेते हुए घेराबंदी शुरू की। देर रात तक डकैतों की तलाश जारी थी।

 

पानी के लिए 15 किमी तक भटके रिपाेर्टर और जवान
रिपाेर्टिंग के लिए पहुंचे भास्कर रिपाेर्टर और पुलिस टीमें पानी के लिए तरस गईं। चिलचिलाती धूप और 45 डिग्री तापमान के बीच पैदल चल रहे इन लाेगाें काे दूर-दूर तक पानी नहीं दिखा। करीब 15 किमी दूर पैदल चलने के बाद उन्हें चंबल नदी दिखी और सभी ने अपनी प्यास बुझाई।

 

एक दूसरे के दुश्मन जगन-केशव साथ
डकैत जगन गुर्जर और केशव धुर विराेध माने जाते रहे हैं। लेकिन अब बीहड़ाें में पुलिस का दबाव बढ़ता देख दाेनाें साथ अा गए हैं। पुलिस से मुकाबले के लिए दोनों बीहड़ों में एक साथ देखे जा रहे हैं। 

 

गांवों व नदी पर जवान तैनात, ताकि डकैत पानी को तरसें 
कई गांवों और बीहड़ों के अलावा चंबल नदी में जगह-जगह क्यूआरटी जवानों को माेर्चा लेकर तैनात किया गया है, ताकि डकैत पानी लेने के लिए आएं तो पकड़े जाएं। इसके अलावा इनकी तैनाती इसलिए भी की गई है ताकि बीहड़ों में छिपकर बैठे हुए डकैतों को  मध्यप्रदेश में भागने का मौका न मिले।

 

तीन टीम खोज रहीं डकैतों को

पहली टीम एटीएस की: जयपुर डीएसपी सतीश यादव, काेटा के एडिशनल एसपी गुमानाराम, कंचनपुर थाना प्रभारी परमजीत पटेल सहित 29 कमांडो शामिल।
दूसरी टीम पुलिस : एडिशनल एसपी राजेंद्र वर्मा, बसई डांग थाना प्रभारी हीरासिंह, सीओ सिटी धौलपुर दिनेश शर्मा सहित 29 जवान शामिल हैं।
तीसरी काेबरा टीम : 12 जवान।

 

शुक्रवार रात रुक-रुककर होती रही फायरिंग

पुलिस ने शुक्रवार शाम चंबल के बीहड़ाें में घेर लिया। इस दाैरान डांग क्षेत्र के मंगलपुरा गांव के निचले क्षेत्र के जंगल में उनकी मुठभेड़ 25-25 हजार रुपए के इनामी डकैत रामविलास और भरत गुर्जर से हो गई। डकैताें और पुलिस के बीच देर रात तक रुक-रुककर फायरिंग जारी थी। इस दाैरान डकैताें ने पुलिस पर हथगाेले भी फेंके। खुद धौलपुर एसपी अजयसिंह भी मुठभेड़ का माेर्चा संभाले हुए थे। इस बीच, भरतपुर रेंज के आईजी भूपेन्द्र साहू ने आरएसी की एक कंपनी मांगी है।

 

मानवाधिकार आयोग ने तलब की रिपोर्ट
राज्य मानवाधिकार आयोग के अध्यक्ष जस्टिस प्रकाश टाटिया व सदस्य जस्टिस महेश चन्द्र शर्मा की खंडपीठ ने महिलाओं से मारपीट करने और उन्हें निर्वस्त्र घुमाने के संबंध में अखबारों में छपी खबरों पर शुक्रवार को प्रसंज्ञान लिया। इस मामले में खंडपीठ ने धौलपुर एसपी से 16 जुलाई तक तथ्यात्मक रिपोर्ट पेश करने काे कहा है। खंडपीठ ने एसपी से पूछा है कि वर्षवार बताएं कि जगन व उसके भाइयों पर अब तक कुल कितने केस दर्ज हैं।

 

भरतपुर रेंज आईजी ने मांगी आरएसी की कंपनी
भरतपुर रेंज के आईजी भूपेन्द्र साहू ने दावा किया है कि दस्यु की गिरफ्तारी के लिए धौलपुर व करौली पुलिस की विशेष टीमें गठित की गई हैं। इसके अलावा आरएसी की एक कंपनी मांगी गई है। इसमें स्पेशल ट्रेंड कमांडो को दस्यु की तलाश में लगाया जाएगा।

COMMENT