करौली / पुलिस सेवा से हटने के बाद आश्रम में रह रहे पूर्व पुलिस अफसर ने फंदा लगाकर खुदकुशी की



मुकेश जोशी (फाइल फोटो) मुकेश जोशी (फाइल फोटो)
आश्रम में हवन पूजा के दौरान मुकेश जोशी आश्रम में हवन पूजा के दौरान मुकेश जोशी
X
मुकेश जोशी (फाइल फोटो)मुकेश जोशी (फाइल फोटो)
आश्रम में हवन पूजा के दौरान मुकेश जोशीआश्रम में हवन पूजा के दौरान मुकेश जोशी

  • करौली जिले के टोडाभीम स्थित बर्फानी आश्रम की घटना

 

Dainik Bhaskar

Jul 14, 2019, 05:32 PM IST

करौली. जिले के टोडाभीम कस्बे में रविवार को राजस्थान पुलिस के एक पूर्व पुलिस इंस्पेक्टर ने कमरे में फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली। पुलिस ने बताया कि खुदकुशी करने वाला मुकेश जोशी (45) मूल रुप से भरतपुर के रहने वाले थे। वह वर्ष 1997 बैच के सबइंस्पेक्टर थे। इसके बाद पदोन्नत होकर पुलिस इंस्पेक्टर बने।

 

मुकेश ने प्रदेश के अलवर, सवाईमाधोपुर, करौली, झुंझुनूं जिले में भी थानाप्रभारी रहे। अलवर में रहते हुए उत्कृष्ट कार्यों के लिए तत्कालीन एसपी विकास कुमार ने सम्मानित भी किया था। इस बीच विभागीय शिकायतों के चलते उन्हें पुलिस सेवा से हटा दिया गया था। बताया जा रहा है कि करीब डेढ़ साल पहले मुकेश ने स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति ली थी।

 

वे करीब एक साल से करौली में ही मेंहदीपुर बालाजी में टोडाभीम तहसील के गेहरोली गांव में स्थित श्री बर्फानी धाम आश्रम में रह रहे थे। वहीं, सेवा पूजा में उनका मन लगा हुआ था। रविवार को मुकेश जोशी ने आश्रम में बने एक कमरे में फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली। उन्हें फंदे पर लटका देखकर स्थानीय लोगों ने पुलिस को सूचना दी।

 

तब टोडाभीम थानाप्रभारी मनोहरलाल मोके पर पहुंचे। शव को मोर्चरी पहुंचाया। मौका मुआयना किया। मुकेश के परिजन भी सूचना मिलने पर टोडाभीम पहुंच गए। फिलहाल खुदकुशी के कारणों का पता नहीं चला है। जानकारों का मानना है कि पुलिस विभाग से हटाए जाने के बाद वे काफी अवसाद में थे। पुलिस अब केस की पड़ताल कर रही है।

COMMENT