बहुत खूब / माेबाइल पर गेम खेलने वाले सिपाहियों काे पहले चार्जशीट दी, फिर ‘बरी’ भी कर दिया



Police personnel Acquitted in playing game on mobile in police station
X
Police personnel Acquitted in playing game on mobile in police station

  • विभागीय कार्रवाई पर रेंज आईजी ने सवाल खड़े किए
  • थाने में 40 से ज्यादा पुलिसकर्मी गेम खेलते पकड़े गए थे

Dainik Bhaskar

Jun 04, 2019, 02:09 AM IST

जयपुर (ओमप्रकाश शर्मा). थानाें में संतरी द्वारा ड्यूटी के दाैरान माेबाइल पर गेम खेलने पर हुई विभागीय कार्रवाई पर रेंज आईजी ने सवाल खड़े किए हैं। एसपी स्तर के अधिकारियाें ने पहले ताे पुलिसकर्मियाें काे 17 सीसीए के तहत आराेप पत्र दे दिए फिर खुद ही क्लीनचिट दे दी।

 

मामला जाेधपुर रेंज के बाड़मेर, जालाैर, पाली, जाेधपुर ग्रामीण, सिराेही और जैसलमेर जिला पुलिस का है, जहां 40 से ज्यादा पुलिसकर्मियाें काे थाने पर संतरी की ड्यूटी सही नहीं करने पर, ड्यूटी के दाैरान राइफल काे साइड में रखकर बैठे हाेने और माेबाइल पर गेम खेलते पाए जाने पर जिला एसपी ने उनके खिलाफ 17 सीसीए के तहत कार्रवाई की है। मामला जब रेंज अाईजी सचिन मित्तल के पास पहुंचा ताे उन्हाेंने सभी एसपी काे पत्र लिखकर एक दफा कार्रवाई करने के बाद उसमें सजा देने के ही निर्देश दिए हैं।

 

गैर हाजिर पुलिसकर्मियाें का सिर्फ परिनिंदा की सजा 

 

पड़ताल में आया पुलिसकर्मियाें काे चार्जशीट के बाद क्लीनचिट देने के दाैरान पत्राचार और कागजी कार्रवाई के दाैरान काफी मानव श्रम लगता है। आईजी ने अधिकारियाें काे अादेश दिए है कि गेम खेलने जैसे मामलाें में संबंधित पुलिसकर्मी काे ओआर में बुलाकर शारीरिक सजा जैसे पीडी और अतिरिक्त ड्रील देकर सुधार करने की चेतावनी देने के निर्देश दिए। पुलिसकर्मियाें के बिना बताए 10 से 15 दिन गैरहाजिर हाेने पर वेतनवृद्धि राेकने का प्रावधान है। लेकिन अधिकारियाें ने ऐसे कई पुलिसकर्मियाें काे परिनिंदा की सजा देकर छाेड़ दिया।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना