जहरीला धुआं / प्लास्टिक व केमिकल की 32 अवैध फैक्ट्रियों पर कार्रवाई करेगा प्रदूषण बोर्ड

Dainik Bhaskar

Oct 28, 2018, 03:40 PM IST


Pollution board to take action against 32 illegal plastic and chemical fact
X
Pollution board to take action against 32 illegal plastic and chemical fact

  • स्वास्थ्य के लिए है खतरनाक

जयपुर। शहर के विश्वकर्मा इण्डस्ट्रियल एरिया के पास लक्ष्मीनारायणपुरा, आकेड़ा डूंगर, अखैपुरा, बढ़ारणा व आसपास के इलाके में प्लास्टिक रिसाइक्लिंग व केमिकल का जहरीला धुंआ फैलाने वाली 32 अवैध फैक्ट्रियों के खिलाफ प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड इसी सप्ताह से कार्रवाई करेगा। बोर्ड की रिपोर्ट के बाद हैड ऑफिस ने 12 फैक्ट्रियों की लिस्ट कार्रवाई करने के लिए दे दी है।

मानव स्वास्थ्य के लिए है खतरनाक

  1. इसमें से 4 यूनिट तो मानव स्वास्थ्य के लिए बहुत ही खतरनाक है। विश्वकर्मा के करणी विहार की महेश मोटर्स, आकेड़ा के कृष्ण विहार- 6 में स्थित वर्धमान केमिकल्स (2 यूनिट) व लखदातार मेटेल्स और बढ़ारणा की अग्रवाल एंटरप्राइजेज पर कार्रवाई की जाएगी। 

  2. वहीं विश्वकर्मा के करणी विहार की केके एंटरप्राइजेज, हरिओम कास्टिंग व आकेड़ा के कृष्ण विहार- 6 में स्थित ध्रुव एजेंसी, जयंत एजेंसी, वीकेआई रोड 17 की श्रीबालाजी कास्टिंग, लक्ष्मीनारायणपुरा की अर्पिता इंटरनेशनल, बढ़ारणा की कमल आयरल फाउंडरी व बढ़ारणा अरावली विहार -2 की लीवो इंडस्ट्रीज पर भी कार्रवाई होनी है। जिससे निकलने वाले धुंआ फेफड़ों व सेहत का बुरी तरह प्रभावित कर रहा है।

  3. प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड के रीजनल अफसर एमसी शर्मा ने बताया कि प्लास्टिक रिसाइकिल की यूनिट स्वास्थ्य के लिए बहुत ही खतरनाक है। ऐसी 32 यूनिट को चिन्हित कर कार्रवाई के लिए हैड ऑफिस को फाइल भिजवाई थी। वहां से 12 यूनिट के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश आ गए है। अब इसी सप्ताह कार्रवाई कर दी जाएगी।
     

  4. अब होगा सघन सर्वे 

    राजस्थान प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड के नॉर्थ रीजन की ओर से विश्वकर्मा व बढ़ारणा इण्डस्ट्रियल एरिया के आसपास बसे अवैध फैक्ट्री एरिया में प्रदूषण फैसला व प्लास्टिक रिसाइक्लिंग की यूनिट को चिन्हित करने के लिए सघन सर्वे किया जाएगा। इसके बाद इन फैक्ट्रियों, कारखानों व परिसरों की सीलिंग की कार्रवाई होगी। चेतावनी देने के बाद भी बंद नहीं होने वाली यूनिट के खिलाफ कोर्ट में मुकदमा दायर होगा।

  5. भेदभाव का आरोप

    लोगों की सेहत से खिलवाड़ करने वाली यूनिट को लेकर बोर्ड ने गंभीरता से लिया है। शेष कारखानों के खिलाफ भी पुलिस जाब्ता के साथ कार्रवाई होगी। कुछ फैक्ट्री वालों ने आरोप लगाया है कि प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड ने पूरे मामले में भेदभाव पूर्ण कार्रवाई की है। क्षेत्र में अवैध रुपए से प्लास्टिक व पॉलिथीन जलाने या रिसाइकिल करने की 200 से ज्यादा फैक्ट्रियां चल रही है।

  6. लेकिन बोर्ड के अफसरों ने मिलीभगत कर केवल 32 कारखानों के खिलाफ कार्रवाई की अनुशंषा की है। कुछ कारखानों ने बोर्ड के अफसरों की मिलीभगत से आसपास ही दूसरी जगह नई यूनिट लगा ली, लेकिन उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की है।
     

  7. अवैध फैक्ट्री एरिया की पर जेडीए की चुपकी 

    वहीं लक्ष्मीनारायणपुरा व आकेड़ा डूंगर क्षेत्र में बसे अवैध फैक्ट्री एरिया पर जेडीए की प्रवर्तन विंग कोई कार्रवाई नहीं कर पा रहा है। जेडीए 2 के डिप्टी कमिश्नर, मुख्य नियंत्रक (प्रवर्तन) व प्रवर्तन अधिकारी के पास करीब 50 से ज्यादा शिकायतें पेडिंग है। लेकिन शिकायत कर्ताओं को केवल आश्वासन मिल रहे है। शिकायतकर्ताओं का आरोप है कि जेडीए के अधिकारी कार्रवाई करने के बाद उनका नाम अवैध काम करने वाले दबंग लोगों को बता देते है। इससे उन्हें आए दिन धमकियां मिलती है तथा मारपीट करते है। इसकी भी जांच होनी चाहिए।

    न्यूज : श्याम राज शर्मा 

COMMENT