• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Jaipur News
  • News
  • Jaipur - घूस के आरोपी आईएएस सिंघवी की संपत्ति का वैल्यूएशन तीन साल में भी नहीं हुआ
--Advertisement--

घूस के आरोपी आईएएस सिंघवी की संपत्ति का वैल्यूएशन तीन साल में भी नहीं हुआ

छह दिन बाद खान घूसकांड प्रकरण को तीन साल हो जाएंगे। लेकिन एसीबी अभी तक यह तय नहीं कर पाई है कि 2.50 करोड़ की रिश्वत के...

Dainik Bhaskar

Sep 11, 2018, 04:12 AM IST
Jaipur - घूस के आरोपी आईएएस सिंघवी की संपत्ति का वैल्यूएशन तीन साल में भी नहीं हुआ
छह दिन बाद खान घूसकांड प्रकरण को तीन साल हो जाएंगे। लेकिन एसीबी अभी तक यह तय नहीं कर पाई है कि 2.50 करोड़ की रिश्वत के आरोपी अशोक सिंघवी की संपत्ति आय से कितनी गुना ज्यादा थी। एसीबी अफसर 36 माह में संपत्तियों का वैल्यूएशन तक नहीं कर पाए। ट्रेप के बाद एसीबी ने आय से अधिक संपत्ति होने की प्राथमिकी दर्ज कर जांच शुरू की थी। तीन साल से अफसर खानापूर्ति ही कर रहे हैं। एसीबी की तलाशी में सिंघवी के घर और बैंक लॉकरों में करोड़ों रुपए की जमीनों के दस्तावेज और सोने-चांदी के जेवर मिले थे। अभी तक इन संपत्तियों का वैल्यूएशन ही नहीं हो पाना एसीबी की कार्यशैली पर सवाल खड़े करता है। सूत्रों का कहना है कि एसीबी इस जांच को बंद कर सिंघवी को इस मामले में क्लीनचिट देने की तैयारी में है। फिलहाल यह जांच एडिशनल एसपी आलोक सिंघल के पास है।

घर और लाकर से 35 किलोग्राम चांदी, 25 तोला सोना और 2.50 लाख रुपए की नगदी, लॉकर में एक रिवाल्वर के अलावा सोने चांदी के जेवर, चांदी के बर्तन, लाखों रुपए के डायमंड सेट और सोने के सिक्के मिले थे। एसीबी ने इनकी एक ज्वैलर को बुलाकर बाजार मूल्य का आंकलन कराया था। आभूषणों की कीमत 3 करोड़ रुपए से ज्यादा बताई गई। करोड़ों की जमीन व भूखंडों के दस्तावेज भी मिले थे। एसीबी को एमआई रोड़ स्थित इंडियन ओवरसीज बैंक व ऑरियन्टल बैंक के लॉकरों से सोने की घड़ी मिली, जिसकी कीमत सात लाख थी। इसके अलावा लॉकरों में खुले हुए डायमंड भी मिले, जिनकी कीमत भी लाखों रुपए में है।

ये मिला था लॉकरों में





एसीबी के डीजी आलोक त्रिपाठी से सवाल-जवाब

सवाल : रिश्वत के आरोपी आईएएस अशोक सिंघवी के खिलाफ क्या आय से अधिक संपत्ति होने की जांच को बंद कर दिया?

जवाब: एसीबी ने जांच बंद नहीं की है। अभी भी अनुसंधान किया जा रहा है।

सवाल: तीन साल में अभी तक उनकी संपत्ति का ही वैल्यूएशन नहीं कर पाने का क्या कारण है?

जवाब: आईओ के पास और भी काम रहते हैं। फिर भी जल्द से जल्द इसे पूरा कराए जाने की कोशिश कर रहे हैं।

सवाल: क्या सिंघवी से जब्त की गई संपत्तियों के दस्तावेजों, नगदी व ज्वैलरी के संबंध में जवाब मांगा?

जवाब: सिंघवी से जवाब मांगा था। उन्होंने दस्तावेज भी उपलब्ध कराए है। उनकी तस्दीक की जाएगी और डीए केस की जांच में थोड़ा समय लगता है। हमारी कोशिश है कि जल्द से पूरा करें।

X
Jaipur - घूस के आरोपी आईएएस सिंघवी की संपत्ति का वैल्यूएशन तीन साल में भी नहीं हुआ
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..