केंद्र में माेदी और राज्य में याेगी, अब राम मंदिर नहीं बनेगा ताे कब बनेगा : नृत्य गाेपालदास

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • श्रीराम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष बोले-जनता ने मोदी को राममंदिर निर्माण के लिए पीएम बनाया
  • काेर्ट के निर्णय आने में देरी हाेती है ताे संत समुदाय मंदिर निर्माण के लिए आगे आएगा

अलवर. श्रीराम जन्म भूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपालदास ने कहा कि अयोध्या में राममंदिर के लिए अनुकूल वातावरण है। न्यायालय भी जनता की आवाज और भावना को पहचानता है, इसलिए न्यायालय जनता की भावना व निष्ठा का आदर करते हुए जहां रामलला विराजमान हैं, वहां मंदिर निर्माण की अनुमति देगा। केंद्र में माेदी और उत्तरप्रदेश में याेगी सरकार है, अब यदि अयोध्या में राम मंदिर नहीं बनेगा ताे कब बनेगा।
 
गुरुवार शाम काे जैन नसिया जी में भागवत कथा में शामिल हाेने के बाद पत्रकार वार्ता में महंत नृत्य गोपालदास ने कहा कि राम के जन्म काे लेकर सबूत की आवश्यकता नहीं है। जहां रामलला विराजमान हैं, वहीं उनका जन्म हुआ और उन्होंने लीलाएं की। जिस प्रकार पत्नी अपने पति का नाम नहीं लेती है, ठीक उसी प्रकार प्रधानमंत्री नरेंद्र माेदी भी भगवान राम से गुप्त रूप से प्रेम करते हैं। जनता ने उन्हें राममंदिर निर्माण के लिए प्रधानमंत्री बनाया है, इसलिए माेदी का भी उत्तरदायित्व हाे जाता है कि वे जनता और धर्माचार्यों की भावना का आदर करते हुए अयाेध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण कराएं और याेगी सरकार समर्थन दे।
 
धर्माचार्य भी राममंदिर निर्माण के लिए तैयार हैं। कई बार बैठक हाे चुकी है। धर्माचार्य भी चाहते हैं कि राममंदिर का निर्माण शीघ्र हाे। उन्हाेंने कहा कि ऐसा विश्वास है कि काेर्ट भी राममंदिर निर्माण के पक्ष में निर्णय देगा। महंत नृत्य गोपालदास ने कहा कि शिया समुदाय राममंदिर निर्माण के पक्ष में हैं। भगवान की कृपा से सद्बुद्धि मिलेगी ताे सुन्नी भी राम मंदिर के निर्माण के लिए आगे आएंगे।
 
उन्हाेंने कहा कि काेर्ट अपना काम करेगा, जनभावना अपना करेगी और केंद्र सरकार अपना काम करेगा। काेर्ट भी जनभावना, प्रधामंत्री नरेंद्र माेदी, मुख्यमंत्री याेगी आदित्यनाथ की भावना का आदर करेगा और मंदिर निर्माण के पक्ष में निर्णय देगा। यदि काेर्ट के निर्णय आने में देरी हाेती है ताे संत समुदाय मंदिर निर्माण के लिए आगे आएगा।

खबरें और भी हैं...