पुष्कर मेला / देशी-विदेशी महिलाओं के बीच हुई मटका दौड़, म्यूजिकल चेयर का भी हुआ आयोजन

Pushkar Fair 2019 Sixth Day Rajasthan
Pushkar Fair 2019 Sixth Day Rajasthan
Pushkar Fair 2019 Sixth Day Rajasthan
Pushkar Fair 2019 Sixth Day Rajasthan
X
Pushkar Fair 2019 Sixth Day Rajasthan
Pushkar Fair 2019 Sixth Day Rajasthan
Pushkar Fair 2019 Sixth Day Rajasthan
Pushkar Fair 2019 Sixth Day Rajasthan

  • विभिन्न समुदायों के साधु संतों ने यहां मठ, मंदिर व आश्रमों में अपने पड़ाव डाल लिए
  • पुष्कर मेले के चलते नगर पालिका की ओर से पुष्कर सरोवर किनारे लाइटों की रोशनी की विशेष सजावट की गई

दैनिक भास्कर

Nov 09, 2019, 01:52 PM IST

पुष्कर. अंतराष्ट्रीय पुष्कर मेले में शनिवार सुबह मटका दौड़ और म्यूजिकल चेयर प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जिसमें कंधे पर मटका रखकर विदेशी महिलाएं भी दौड़ लगाती नजर आई। इन प्रतियोगिताओं में देशी और विदेशी महिलाओं ने भाग लिया। इससे पहले मेलार्थियों की सुविधा एवं सुरक्षा के लिए जिला एवं पुलिस प्रशासन ने पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। मेले के कारण यहां शनिवार को श्रद्धालुओं की भीड़ के कारण घाटों, मंदिरों, बाजारों में चहल-पहल रही। ग्रामीण महिलाओं ने मंगलगीत गाते हुए सरोवर में स्नान किया व मंदिरों में दर्शन किए। वहीं सैलानियों के लिए अलग-अलग प्रतियोगिताओं का भी आयोजन किया गया। 

 

मटका दौड़ में कुल 18 महिलाओं ने हिस्सा लिया। जिसमें छह विदेशी और 12 स्थानीय महिलाएं रहीं। जिसमें अजमेर की रेखा हीनोनिया पहले और केनेडा की हेल्दी दूसरे स्थान पर रही। वहीं म्यूजिकल चेयर में 32 महिलाओं ने हिस्सा लिया। जिसमें 18 विदेशी और 14 स्थानीय महिला शामिल हुई। इसमें फ्रांस की शकीरा ने हासिल की। वहीं दूसरे स्थान पर इंग्लैंड की एलिसन जॉली रहीं।

 

कार्तिक मास की देवउठनी प्रबोधनी एकादशी स्नान के साथ पुष्कर का धार्मिक मेला शुक्रवार को शुरू हुआ है। 5 दिवसीय पंचतीर्थ स्नान के पहले दिन एक लाख से अधिक श्रद्घालुओं व साधु-संतो ने सरोवर में डुबकी लगाई। मेले का समापन 12 नवंबर को कार्तिक पूर्णिमा पर होने वाले महास्नान के साथ होगा। इन पांच दिनों में तैंतीस करोड़ देवी-देवता पुष्कर तीर्थ में ही विद्यमान रहते हैं तथा सरोवर में पंचतीर्थ स्नान करने मात्र से अक्षय फल की प्राप्ति होती है।


साधु-संतों ने डाला पड़ाव
पंचतीर्थ स्नान के लिए श्रद्धालुओं के पहुंचने का सिलसिला जारी है। वहीं विभिन्न समुदायों के साधु संतों ने यहां मठ, मंदिर व आश्रमों में अपने पड़ाव डाल लिए हैं। इसके अलावा नागा समाज व अन्य संप्रदायों के साधुओं ने सरोवर किनारे व धार्मिक स्थलों पर अपना डेरा जमा रखा है। साधु संत विदेशी पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र बने हुए हैं।

 

2 हजार महिलाओं ने एक साथ किया घूमर

गुरुवार को पुष्कर मेले में घूमर का वर्ल्ड रिकॉर्ड बना। यहां 2 हजार महिलाओं ने एक साथ घूमर की प्रस्तुति दी। इसे इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में दर्ज किया। पुष्कर के कलेक्टर विश्व मोहन शर्मा को इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड के भानु प्रताप ने रिकॉर्ड का प्रमाण पत्र सौंपा। खास बात यह रही कि बारिश होने के बावजूद भी महिलाएं लगातार घूमर करती रहीं। 

 

मामे खान की गायिकी के दीवाने हुए मेलार्थी

ख्याति प्राप्त पार्श्व गायक मामे खान ने शुक्रवार की शाम को मेला मैदान के रंगमंच पर अपनी गायिकी का जादू बिखेरा। उनके गीतों पर दीवाने हुए मेलार्थी जमकर झूमे। उन्होंने एक के बाद एक कई संगीतमय गाने सुनाकर मेलार्थियों को मंत्रमुग्ध कर दिया। इससे पहले पुष्कर के संगीतकार दिनेश पाराशर एवं उनके पुत्र राघव पाराशर ने भजन व राजस्थानी लोक गीतों की प्रस्तुति देकर मेलार्थियों का मन मोह लिया।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना