Hindi News »Rajasthan »Jaipur »News» Rain In Many Parts Of Rajasthan Temperature Dropped

प्रदेश के कई हिस्सों में बारिश, बारां में 5 घंटे में 8 इंच बरसा पानी, 3 घंटे ट्रेनों का संचालन बंद रहा

जयपुर में बरसात के बाद गिरा पारा

Bhaskar News | Last Modified - Jul 13, 2018, 06:13 AM IST

प्रदेश के कई हिस्सों में बारिश, बारां में 5 घंटे में 8 इंच बरसा पानी, 3 घंटे ट्रेनों का संचालन बंद रहा

जयपुर. प्रदेश में बीते दो दिन से जोरदार बारिश का दौर जारी है। बारां जिले के छबड़ा में 196 मिमी यानी 8 इंच बारिश दर्ज की गई। कोटा-बीना रेलवे लाइन पर गेट संख्या 177 पर घट्टी गांव के पास रेलवे ट्रैक पर पानी भर गया। इससे तीन घंटे तक ट्रेनों का संचालन बंद रहा। गुरुवार शाम राजधानी जयपुर में 2 घंटे में 2 इंच बारिश हुई। बारिश से शाम 7 बजे तापमान में करीब 5 डिग्री की कमी दर्ज की गई। मौसम विभाग ने अगले तीन दिन तक लगातार प्रदेशभर में जोरदार बारिश की उम्मीद जताई है।

छबड़ा में 8 इंच बारिश, घट्टी के पास रेलवे ट्रैक पर आया पानी, 3 घंटे ट्रेनों का संचालन रुका
छबड़ा (बारां).
छबड़ा में गुरुवार को झमाझम बारिश से नदी-नाले उफान पर रहे। सुबह 10 से दोपहर 3 बजे तक 196 मिमी यानी 8 इंच बारिश दर्ज की गई। कोटा-बीना रेलवे लाइन पर छबड़ा से भूलोन के बीच 130 से 134 किमी के बीच गेट संख्या 177 पर घट्टी गांव के पास रेलवे ट्रैक पर पानी भर गया। यहां लाइन दोहरीकरण के चलते गेट को वर्तमान में बंद कर रखा है। ट्रैक पर गांव की तरफ से पानी आ गया।

ट्रेक पर पानी आने से करीब तीन घंटे तक ट्रैक पर आवागमन रुका रहा:इसमें ट्रैक डूबने की सूचना मिलने पर ट्रेन और मालगाड़ियों का संचालन रोक दिया गया। ट्रैक पर दोपहर करीब 2 बजे पानी आ गया था।बीना-कोटा ट्रेन को भूलोन स्टेशन पर ही रोक दिया गया। ऐसे में रेलवे निर्माण सेक्शन की टीम के इंजीनियर भरतलाल की अगुवाई में टीम ने पहुंचकर पानी निकासी की व्यवस्था कराई। ऐसे में करीब तीन घंटे तक ट्रैक पर आवागमन रुका रहा। इसके चलते ट्रेन संख्या 51612 बीना-कोटा ट्रेन 3 के बजाय शाम 5 बजे छबड़ा स्टेशन पर पहुंची। इंजीनियर ने बताया कि ट्रैक पर पानी आ गया था। ऐसे में ट्रेनों को धीमी गति से निकाला गया है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×