डेयरी से 2391 सैंपल फेल, स्वास्थ्य िवभाग के 74 पास

Jaipur News - चार साल में मिलावटी दूध सप्लाई करने पर सरस डेयरी संघ प्रदेश में 2391 समितियों काे सस्पेंड कर चुकी है। ये समितियां अब...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 08:30 AM IST
Jaipur News - rajasthan news 2391 sample failure from dairy 74 near health department
चार साल में मिलावटी दूध सप्लाई करने पर सरस डेयरी संघ प्रदेश में 2391 समितियों काे सस्पेंड कर चुकी है। ये समितियां अब डेयरी में दूध सप्लाई नहीं कर रही है। वहीं चिकित्सा विभाग काे समितियों के दूध में मिलावट ही नहीं मिली है। विभाग की टीम ने चार साल में करीब 74 समितियों पर दूध के सैंपल लिए। इसमें किसी में भी मिलावटी दूध नहीं मिला। मिलावटी दूध मिलने पर सबसे अधिक समितियों पर कार्रवाई अलवर डेयरी में हुई है। दूसरे नंबर पर जयपुर डेयरी है। अलवर डेयरी में चार साल में 716, जयपुर डेयरी में 437 मिलावटी समितियों पर कार्रवाई की गई है। दूध में सॉलिड नाॅट फैट (एसएनएफ) बढ़ाने के लिए नमक, चीनी मिलाया जाता है। फैट बढ़ाने के लिए वनस्पति तेल की मिलावट की जाती है। इसके अतिरिक्त सेंथेटिक दूध के लिए यूरिया, डिटर्जेँट पाउडर यूज किया जाता है। इनमें भी एसएनएफ अाैर फैट बढ़ाने के लिए इन वस्तुओं का यूज किया जाता है। डेयरी में 6 प्रतिशत फैट अाैर 8.4 प्रतिशत एसएनएफ वाला दूध लिया जाता है। इससे कम हाेने पर दूध का भुगतान नहीं किया जाता है।

डेयरी की त्रिस्तरीय जांच में दूध का सच सामने आता है

पहली जांच समितियों पर हाेती है। यहां से दूध बल्क मिल्क सेंटर पर जाता है। सेंटर पर दूध जाने से पहले समिति के दूध की जांच हाेती है। बीएमसी से डेयरी में अाने वाले दूध की जांच क्वालिटी कंट्रोल लैब करती है। लैब में लेटेस्ट टैक्नोलॉजी की एफटी-1 मशीन लगी हुई है। इसमें सैंपल लगाते ही पता चल जाता है कि दूध में क्या मिलावट है।

X
Jaipur News - rajasthan news 2391 sample failure from dairy 74 near health department
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना