जो कागज बाजार में 54 रुपए में मिल रहा है उसके दे दिए 59 रुपए: राठाैड़

Jaipur News - विधानसभा में शून्यकाल के दौरान भाजपा के उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ ने सरकार पर कागज खरीद में घोटाले का...

Feb 15, 2020, 09:00 AM IST

विधानसभा में शून्यकाल के दौरान भाजपा के उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ ने सरकार पर कागज खरीद में घोटाले का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि पाठ्य पुस्तक मंडल निजी फर्म ट्राइडेंट से 59 रुपए प्रति किलो के हिसाब से 30 हजार टन कागज खरीद रहा है। यही कागज बाजार में 54 रुपए 18 पैसे प्रति किलो मिल रहा है। राठौड़ ने स्पीकर से कहा कि आप कहें तो मैं पेपर लेकर आ सकता हूं। जिस समय राठौड़ सदन में इस मुद्दे को उठा रहे थे उस वक्त शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा सदन में मौजूद नहीं थे। इस पर राठौड़ बोले...माननीय मंत्री महोदय मेरी बात कहीं न कहीं किसी रूप में सुन रहे हों, चाहे ऊंघते हुए सुन रहे हों, मेरी बात पर संज्ञान जरूर ले रहे होंगे। आप 14 महीनों से सरकार में हैं इसलिए जिम्मेदारी से बच नहीं सकते।

भाजपा के समय से चल रही प्रक्रिया को ही जारी रखा: डाेटासरा

डोटासरा ने सदन के बाहर इस मामले में जवाब दिया। उन्होंने कहा कि जो वर्जिन पल्प पेपर 1973-74 से खरीद रहे हैं। जो पहले भाजपा के शासन में शिक्षा मंत्री रहे कालीचरण सराफ व वासुदेव देवनानी के समय खरीदा गया था वही खरीद रहे हैं। राठौड़ ने इसलिए मुद्दा उठाया क्योंकि वे अप्रत्यक्ष तौर पर कालीचरण और देवनानी के खिलाफ बोलना चाहते थे। मोदी सरकार के आने के बाद एनसीईआरटी गुजरात के कारोबारियों के दबाव में वहां से रिसाइकल्ड पेपर खरीदने लग गई जो कि वर्जिन पल्प के मुकाबले घटिया पेपर है। इससे राठौड़ नरेंद्र मोदी और अमित शाह को खुश करना चाहते हैं ताकि नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया की जगह उन्हें मौका मिले।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना