9 ईएमआई थी... 6650 की जगह 6996 रु. काटे, उपभोक्ता को 10 हजार रु. लौटाने होंगे

Jaipur News - आसान किश्तों पर मोबाइल, टीवी, फ्रिज खरीद रखे हैं तो सावधान! फाइनेंस कंपनियां लोन लेते समय तय ईएमआई से ज्यादा रकम...

Jan 24, 2020, 08:30 AM IST
Jaipur News - rajasthan news 9 emi was 6996 instead of 6650 cut 10 thousand rupees to the consumer must return
आसान किश्तों पर मोबाइल, टीवी, फ्रिज खरीद रखे हैं तो सावधान! फाइनेंस कंपनियां लोन लेते समय तय ईएमआई से ज्यादा रकम बिना बताए काट रही हैं। कोर्ट ने बजाज फिनसर्व को अतिरिक्त रकम हर्जे-खर्चे सहित उपभोक्ता को लौटाने का आदेश दिया है। प्रतापनगर निवासी पंकज जैन ने ग्रेट इंस्टर्न शोरूम से टीवी खरीदा। फाइनेंस कंपनी बजाज फिनसर्व से फाइनेंस किया। जैन ने टीवी की कीमत 66,500 रुपए में से 9 हजार 11 रुपए डाउन पेमेंट किया। 57,489 की 9 किश्ते 6,650 रुपए की बनाई। बिल में इसकी जानकारी दी गई। ग्राहक ने ईसीएस से भुगतान की सहमति दे दी।

बेईमानी; 9 बार तय किश्त से ज्यादा रकम काट ली

कंपनी बोली यह मेंबरशिप वेल्यू है

फाइनेंस कंपनी के अधिवक्ता सुनील दत्त शर्मा ने दलील दी ग्राहक ने एसेट केयर स्कीम की मेंबरशिप भी ली थी। जिसकी कीमत तीन हजार 109 रुपए थी। टीवी के साथ इसका भी लोन दिया गया। ग्राहक ने इसकी भी 346 रुपए की नौ किश्तें बनवाई थी। जिसे टीवी की किश्त के साथ वसूला गया।

फाइनेंस कंपनी ने ग्राहक के खाते से छह हजार 650 रुपए के बजाए छह हजार 996 रुपए काटना शुरू कर दिए। उपभोक्ता ने आपत्ति जताई तो बताया कि अतिरिक्त रकम आखरी किश्त में एडजस्ट कर दी जाएगी। परंतु नौंवी किश्त भी छह हजार 996 रुपए की काटी। इस तरह नौ किश्तों में कुल 3 हजार 114 रुपए ज्यादा वसूल लिए गए। तकाजा करने पर भी रकम नहीं लौटाई तो उपभोक्ता ने स्थाई लोक अदालत का दरवाजा खटखटाया।

हर्जेे-खर्चे सहित लौटाओ

फैसला- ग्राहक ने एसेट केयर स्कीम के लिए न तो अनुरोध किया, ना ही कंपनी ने इसकी उपभोक्ता से सहमति ली। टीवी के बिल में केवल 6,650 रुपए की 9 किश्तें दर्ज हैं। ज्यादा रकम वसूली। ज्यादा वसूली की तारीख से 9% ब्याज सहित लौटाए। ग्राहक को 10 हजार रु.हर्जे-खर्चे के दे।

X
Jaipur News - rajasthan news 9 emi was 6996 instead of 6650 cut 10 thousand rupees to the consumer must return
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना