पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

15 साल बाद सीअाईडी सीबी में पुलिसकर्मियाें के प्रमाेशन

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जयपुर। पुलिस मुख्यालय ने क्राइम ब्रांच में भर्तीशुदा पुलिसकर्मियाें काे बड़ी राहत दी है। क्राइम ब्रांच में भर्तीशुदा पुलिसकर्मियाें की अब 15 से 20 साल बाद पदाेन्नति हाेगी। इसके लिए पुलिस महकमे के अफसर सीअाईडी सीबी यूनिट अाैर जिलाे में 950 भर्ती पुलिसकर्मियाें की वरिष्ठता निर्धारण करना शुरू कर दिया है। वरिष्ठता निर्धारण करने के बाद पुलिसकर्मियाें की पदाेन्नति परीक्षा हाेगी। इसके बाद परिणाम मिलने पर पुलिसकर्मियाें काे पदाेन्नत किया जाएगा। दरअसल सीअाईडी सीबी में भर्तीशुदा कांस्टेबल स्तर के सैकड़ाें पुलिसकर्मी पिछले 15 से 20 साल में हैडकांस्टेबल नहीं बन पाए है। जबकि िजलाें में भर्तीशुदा कांस्टेबल स्तर के पुलिसकर्मी एएसअाई से एसअाई स्तर पर पदाेन्नत हाे चुके है। एेसे में पुलिस मुख्यालय क्राइम ब्रांच ने सालाें बाद इन पुलिसकर्मियाें काे पदाेन्नत करने के लिए प्रक्रिया शुरू कर दी है। इस संबंध में एसपी क्राइम ब्रांच ने एडीजी हैडक्वार्टर काे पत्र लिखा है।

िजलाें में लगे पुलिसकर्मियों के आने से अटकता था प्रमाेशन

सीअाईडीसीबी में कांस्टेबल 709, हैडकांस्टेबल 183, एएसअाई 32 अाैर एसअाई स्तर के 72 पुलिसकर्मी हैं। सालों से कांस्टेबल से एएसअाई में पदाेन्नति अटकी है। 25 फीसदी कांस्टेबल ताे एेसे हैं, जिनकी 15 से 20 साल से पदाेन्नति नहीं हुई है जबकि साथ में भर्ती पुलिसकर्मी एसअाई बन चुके हैं। पदाेन्नति नहीं हाेने के पीछे पीएचक्यू के अफसराें का मानना है जिलाें तैनात पुलिसकर्मी तबादलाें पर सीअाईडी सीबी में अाने के बाद भर्ती पुलिसकर्मियाें से वरिष्ठ अाैर कार्य का अनुभव ज्यादा हाेने से पदाेन्नत कर दिया जाता है जबकि सीअाईडीसीबी में भर्तीशुदा कांस्टेबल, हैडकांस्टेबल अाैर एएसअाई का कामकाज का फील्ड पाेस्टिंग का अनुभव नहीं हाेनेे के कारण पदाेन्नति से वंचित रहना पड़ रहा है। एेसे में पुलिस मुख्यालय ने अब एेसे पुलिसकर्मियाें काे भी पदाेन्नत करने का निर्णय लिया है।

खबरें और भी हैं...