कैलिग्राफी के आर्टिकल्स व मुगलकाल के दस्तावेज डिसप्ले

Jaipur News - सिटी रिपोर्टर

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 08:40 AM IST
Jaipur News - rajasthan news artography of caligraphy and document display of mughal
सिटी रिपोर्टर
जवाहर कला केंद्र में पश्चिम क्षेत्र सांस्कृतिक केंद्र, उदयपुर के सहयोग से चल रही एग्जीबिशन ‘विरसा-2019’ में प्रदेश की 4 प्रतिष्ठान संस्थान ने ऐतिहासिक दस्तावेज, कलाकृतियां और बुक्स एग्जीबिट की हैं। मौलाना आजाद अरबी-फारसी शोध संस्थान, टोंक की ओर से कैलिग्राफी की बेहतरीन कलाकृतियां और मुगलकाल के दस्तावेज डिसप्ले किए गए हैं। जेकेके की अलंकार आर्ट गैलेरी में चल रही इस एग्जीबिशन में संस्थान के स्टूडेंट्स ने पेपरमेशी के ग्लास, प्लेट, लैम्ब और गुलदान आदि डिसप्ले किए हैं।

10.5 फीट लंबी और 7.6 फीट चौड़ी कुरान

संस्थान की ओर से 10.5 फिट लम्बी और 7.6 फिट चौड़ी कुरान का नमूना पेश किया गया है। संस्थान के फरीद अहमद खान ने बताया कि यह कुरान चित्तौड़ के शेर खान के कहने पर हाफिज गुलाम अहमद ने तैयार की थी। इस बनने में करीब 1.5 साल का समय लगा। 64 पेज की इस कुरान में बगरू के हैंडमेड पेपर का यूज किया है। इसका वजन करीब 250 किलोग्राम है। इसे लिखने में आर्टिफिशयल व ऑरिजनल कलर और जर्मन इंक का यूज किया गया है। इसकी शुरूआत में सोने का वर्क और चारो कोनों पर चांदी का यूज किया गया है। इसकी हर लाइन अलिफ (अरबी शब्द) से शुरू होती है। जो अपने अाप में अनोखा है। इसकी जिल्द बनाने में भी 6 महीने का समय लगा है। यह दुनिया की दूसरी सबसे बडी कुरान है।

दाल पर कुरान की आयत और बाल पर बादशाह

संस्थान की ओर कैलिग्राफी शैली में एक बाल पर मुगल बादशाह बाबर, हुमायूं, अकबर, जहांगीर, शारजाह और औरंगजेब के नाम को उकेरा गया है। साथ ही मूंगदाल और खरबूजे के बीज पर कुरान की आयते और टोंक नवाब के नाम भी कैलिग्राफी शैली में लिखे गए है। एग्जीबिशन में बेगम समरू पर लिखी किताब जैब उत्-तवारीख का अंश भी डिस्प्ले किया गया।

ACtivity

X
Jaipur News - rajasthan news artography of caligraphy and document display of mughal
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना