• Hindi News
  • National
  • Jaipur News Rajasthan News Before The Monsoon The Encroachment Will Go Away From The Catchment Area Of The Ramgarh Dam

मानसून से पहले रामगढ़ बांध के कैचमेंट क्षेत्र से हटेंगे अतिक्रमण

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर न्यूज | धाैला/जमवारामगढ़

कई वर्षों से जयपुर की प्यास बुझाने वाला रामगढ़ बांध आज खुद प्यासा नज़र आ रहा है। शनिवार को राजस्थान हाई कोर्ट की मानिटरिंग कमेटी के द्वारा बहाव क्षेत्र के लिए गठित कमेटी के सदस्य ने शनिवार काे रामगढ़ बांध कैचमेंट एरिया का दौरा कर जायजा लिया।

कमेटी सदस्य एडवोकेट वीरेंद्र डांगी ने बताया कि जमवारामगढ़ क्षेत्र के नेकावाला बाणगंगा पुलिया, धौला के मीना खोल से स्टेट हाईवे 52 के साथ गैरमुमकिन नाले के अर्जुनपुरा से लाडीपुरा होकर जा रहे नाले, चौबेजी की कोठी के पास नाले पर अतिक्रमण एवं फनगांव रेस्टोरेंट सहित रामगढ़ बांध के भराव क्षेत्र का भी जायजा लिया। ग्रामीणों ने बताया कि कई महीनों से अतिक्रमियों ने बाणगंगा नदी व बहाव क्षेत्र में जुताई तक कर दी। वही अधिकारी गरीब लोगों को करवाई कर इतिश्री कर लेते है ओर बड़े लोगो के बने फार्म हाउस आज भी खड़े है, लेकिन आज भी कई जगह बहाव क्षेत्र में खेती के लिए बुवाई की जा रही है। रामगढ़ बांध को भरने वाली मुख्य बाणगंगा नदी व सहायक नदी नालो में अतिक्रमण को रोकने के लिए माॅनिटरिंग कमेटी ने मौैके पर जिम्मेदार अधिकारियों को लताड़ लगते हुए बाणगंगा नदी व बहाव क्षेत्र में हो रहे अतिक्रमण को मानसून से पहले हटाने के सख्त निर्देश दिए। इस दौरान कमेटी के साथ जमवारामगढ़ तहसीलदार मूलचंद मीना, नायब तहसीलदार राजेन्द्र मीना, सिंचाई विभाग एक्सईन अनुज त्यागी, एईएन सतीश खंडेलवाल, गिरदावर श्रवण मीना, कैलाश मीना सहित पटवारी व कर्मचारी मौजूद रहे। लोगों का कहना है कि मॉनिटरिंग कमेटी गठन से अब तक प्रति वर्ष बारिश से पूर्व रामगढ़ बांध कैचमेंट एरिया में मानिटरिंग कमेटी प्रशासनिक अमले के साथ जायजा लेती है, लेकिन अतिक्रमियों के खिलाफ आज तक कोई ठोस करवाई नहीं की गई।

अतिक्रमण हटाने के निर्देश दिए

कैचमेंट एरिये में बहाव क्षेत्र का जायजा लिया और मौके पर जमवारामगढ़ तहसीलदार मूलचंद मीना को बारिश से पूर्व बहाव क्षेत्र के अतिक्रमण को हटाने के सख्त निर्देश दिए। एडवोकेट वीरेंद्र कुमार डांगी, राजस्थान हाईकोर्ट मानिटरिंग कमेटी सदस्य

खबरें और भी हैं...