दावा : आठ करोड़ की दवा में था मेटफार्मिन सच : मौके पर दो हजार की भी दवा नहीं थी

Jaipur News - आयुर्वेद दवाइयों में एलोपैथी की मिलावट मामले में ड्रग विभाग की ओर से की गई कार्रवाई सवालिया निशानों में है। एक ओर...

Bhaskar News Network

Jun 16, 2019, 08:15 AM IST
Jaipur News - rajasthan news claim eight million of the drug was in metformin truth there was no medicine of two thousand on the spot
आयुर्वेद दवाइयों में एलोपैथी की मिलावट मामले में ड्रग विभाग की ओर से की गई कार्रवाई सवालिया निशानों में है। एक ओर विभाग की ओर से वाहवाही लूटने के लिए कई झूठ बोले गए तो दूसरी ओर कंपनी पर कराई गई एफआईआर को भी विभागीय अधिकारी सही नहीं मान रहे हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि ऐलौपथी में जहां एक दशक में कार्रवाई के तुरंत बाद केवल दो मामलों में ही एफआईआर कराई गई हैं वहीं आयुर्वेदिक मामले में एक भी एफआईआर नहीं है। ड्रग विभाग की ओर से की गई कार्रवाई में क्या सच और क्या झूठ और विभाग ने ऐसा क्यों किया, इस पर भास्कर की विशेष रिपोर्ट।

झूठ : साढ़े आठ करोड़ रुपए की दवाइयां हैं

ड्रग विभाग की ओर से जो साढ़े आठ करोड़ रुपए की दवाइयां पकड़ने की बात कही गई है, वह तो कभी फैक्ट्री में रही ही नहीं। विभाग ने जो रकम बताई वह तो कंपनी का साल भर का टर्नओवर है। अब यदि विभाग कहता है कि सभी दवाइयों में मैटफार्मिन था तो वह पुष्ट करना असंभव होगा क्योंकि जिस बैच का सैंपल लिया, वही बैच की दवाइयां फेल होंगी और कार्रवाई भी उसी के आधार पर होगी।


सच्चाई : मौके पर जब्त करने लायक कुछ नहीं

जब विभाग की टीम मौके पर गई तो वहां दो से तीन हजार रुपए तक की ही दवाइयां थी। विभाग ने जो सैंपल लिए, उनकी कीमत भी महज दो से तीन हजार रुपए थी।


उल्लघंन : रि-टेस्टिंग का मौका क्यों नहीं

नियम यह है कि जिस भी दवा का सैंपल फेल होता है, सम्बन्धित फर्म या व्यक्ति को 21 दिन का समय दिया जाता है ताकि वहीं कहीं ओर रि-टेस्ट करा सके। इसके बाद विभाग कोर्ट में जाता है लेकिन यहां ऐसा नहीं किया गया और एफआईआर करा दी गई। जबकि सामने यह भी आया है कि आयुर्वेद के किसी केस में आज तक एफआईआर नहीं कराई गई।

X
Jaipur News - rajasthan news claim eight million of the drug was in metformin truth there was no medicine of two thousand on the spot
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना