नए साल का पहला सावा आज, होंगी 1000 शादियां...परियां लाएंगी वरमाला

Jaipur News - नए साल का पहला सावा गुरुवार को है। दरअसल, पिछले एक माह से मलमास चल रहा था जो सूर्यदेव के उत्तरायण होने के साथ ही खत्म...

Jan 16, 2020, 08:30 AM IST
Jaipur News - rajasthan news first sava of new year today 1000 weddings to be held fairies will bring varmala
नए साल का पहला सावा गुरुवार को है। दरअसल, पिछले एक माह से मलमास चल रहा था जो सूर्यदेव के उत्तरायण होने के साथ ही खत्म हो गया। अब फिर से शुभ और मांगलिक कार्य संपन्न हो सकेंगे।

नववर्ष का पहला सावा सात रेखीय है। पहले मुहूर्त में लगभग 1000 शादी समारोह शहर में संपन्न होंगे। इसके लिए शहर के करीब 70 प्रतिशत विवाह स्थल बुक हो चुके हैं। नए वर्ष में विवाह स्थलों से लेकर बैंड-बाजे, घोड़ी, केटरिंग और टेंट आदि के खर्चे गत वर्ष के मुकाबले 25 प्रतिशत तक बढ़ गया है। ज्योतिषाचार्य पं. रामवतार मिश्र के मुताबिक दो दिन बाद 18 जनवरी को नौ रेखीय बड़ा सवा रहेगा। शहर में 2000 से अधिक शादियां होने का अनुमान है। इसके लिए शहर के सभी करीब 900 विवाह स्थलों के साथ होटल और रिसोर्ट्स भी बुक कराए गए हैं, जहां अलग-अलग थीम्स पर विवाहोत्सव मनाया जाएगा।

पं. मिश्र का कहना है कि शास्त्रों के अनुसार हिंदू धर्म में किसी भी शुभ कार्य के लिए शुभ मुहूर्त का विशेष महत्व होता है। किसी भी मांगलिक कार्य करने से पहले शुभ मुहूर्त जरूर देखा जाता है। शुभ मुहूर्त और शुभ तिथि में किया जाने वाला कोई भी काम जरूर सफल और विशेष फलदायी होता है, ऐसी भी मान्यता है।

मलमास खत्म
तैयारी... 2000 शादियों के लिए विवाह स्थलों के साथ, होटल, रिसोर्ट बुक

जोधा-अकबर थीम पर सजेंगे विवाह स्थल : पिछले साल जहां पीच और व्हाइट कलर की थीम पर अधिकतर विवाह स्थल सजाए गए थे। वहीं, इस साल जोधा-अकबर थीम का क्रेज रहेगा। इसमें मुख्य रूप से रेड एंड ब्लैक और रेड एंड गोल्डन कलर मैरिज गार्डन और मंडप सजाने के लिए काम में लिया जाएगा।

परियां लाएंगी वरमाला : शादियों के इवेंट मैनेजमेंट में मुख्य आकर्षण का केंद्र रहती है दूल्हा-दुल्हन की वरमाला रस्म। इस वर्ष वरमाला भी कई नई थीम के साथ निभाई जाएगी। राजस्थान टेंट डीलर समिति के प्रदेश अध्यक्ष रवि जिंदल ने बताया कि कमल, एंजल थीम और बग्घी समेत अन्य थीम्स भी देखने को मिलेंगी। एंजल थीम में उड़ती हुई परियां वरमाला लेकर आएंगी, तो बग्घी थीम में दूल्हा-दुल्हन बग्घी में बैठकर स्टेज तक पहुंचेंगे।

पूरे साल में 66 दिन बजेंगी शहनाइयां : इस साल पुरुषोत्तम मास(अधिकमास) के चलते सिर्फ 66 दिन ही शहनाइयां बजेंगी। पिछले साल से 45 दिन कम सावे होंगे। वर्ष 2019 में कुल 111 विवाह मुहूर्त थे। इस साल सबसे कम सावे मार्च माह में सिर्फ दो दिन ही होंगे, जबकि सर्वाधिक विवाह मुहूर्त फरवरी में 17 दिन होंगे।

फरवरी में सबसे ज्यादा और मार्च में सबसे कम हैं विवाह मुहूर्त







X
Jaipur News - rajasthan news first sava of new year today 1000 weddings to be held fairies will bring varmala
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना