विज्ञापन

14 मार्च से होलाष्टक लग जाएगा और 15 मार्च से मलमास

Dainik Bhaskar

Feb 14, 2019, 07:21 AM IST

Jaipur News - जयपुर | शहर में इस साल 17 जनवरी से शुरू हुई विवाह समारोह की धूम 13 मार्च से थम जाएगी। विवाह स्थलों में एक माह और...

Jaipur News - rajasthan news holalkar will take place from march 14 and will start from march 15
  • comment
जयपुर | शहर में इस साल 17 जनवरी से शुरू हुई विवाह समारोह की धूम 13 मार्च से थम जाएगी। विवाह स्थलों में एक माह और शहनाइयां बजेंगी। 13 मार्च के बाद शादियों पर विराम लग जाएगा। 14 मार्च से होलाष्टक लग जाएंगे। 15 मार्च को मीन का मलमास लग जाएगा। भगवताचार्य पं.रामवतार मिश्र ने बताया कि सूर्य जब गुरु की राशि धनु और मीन राशि में प्रवेश करता है तब मलमास लगता है। 15 मार्च सुबह 5:45 मिनिट पर सूर्य मीन राशि में प्रवेश करेगा। सूर्य मीन राशि में 14 अप्रैल दोपहर 2 बजे तक रहेंगे। 15 अप्रैल से शुभ कार्य शुरू हो सकेंगे। वहीं, 16 अप्रैल को फिर से विवाह मंडपों में रौनक शुरू हो जाएगी। 12 जुलाई को देवशयन हो जाएगा। इससे फिर चार माह तक कोई शुभ और मांगलिक कार्य नहीं हो सकेंगे। 8 नवंबर को देवउठनी एकादशी से फिर से शहनाइयां बजेंगी।

सावे 13 मार्च तक, फिर एक माह नहीं होंगे मांगलिक कार्य

सभी विवाह स्थल, घोड़ी और बैंडबाजे बुक

उधर, न्यू सांगानेर रोड, मानसरोवर, सी-स्कीम, वैशाली नगर, मालवीय नगर सहित शहरभर में स्थित विवाह स्थल अगले एक माह के लिए बुक हैं। विवाह स्थल समारोह समिति के शहर अध्यक्ष भवानी शंकर माली ने बताया कि 13 मार्च तक के लिए लगभग सभी 900 विवाह स्थल बुक हैं। बड़ी संख्या में होटल और रिसोर्ट्स में भी शादी समारोहों का आयोजन हो रहा है। उधर, 1000 से अधिक घोडिय़ों सहित बैंड बाजे और बरात के साथ चलने वाली सजावटी लाइटवाले भी बुक हैं।

ऐसे बनता है शुभ मुहूर्त

पंडितों ने बताया कि लता दोष, पात दोष, युति दोष, वेध दोष, जामित्र दोष, पंच बाण दोष, तारा दोष, उपग्रह दोष, कांति साम्य एवं दग्धा तिथि, इन दस दोषों का विचार करने के बाद ही शुभ मुहूर्त बनता है। रेखा की गणना इन्हीं के आधार पर होती है। जितनी ज्यादा रेखाएं मुहूर्त उतना शुद्ध होता है।

खरीदारी के लिए भीड़

अगले एक माह तक होने वाले सावों के लिए चारदीवारी के बाजारों में कपड़ों, गहनों, लाख के चूड़े, आदि की खरीदारी के लिए ग्राहकों की खासी भीड़ है। पुरोहितजी का कटला और लालजी सांड के रास्ते के दुल्हनें व अन्य परिजन लेटेस्ट डिजाइन के लहंगे और साड़ियों का ट्रायल लेकर खरीदने में जुड़ी हुई हैं।

ये होंगे अबूझ मुहूर्त

8 मार्च फुलेरा दूज

7 मई अक्षय तृतीय

13 मई जानकी नवमी

18 मई पीपल पूनम

12 जून गंगा दशमी

10 जुलाई भड़ल्या नवमी

12 जुलाई देवशयनी एकादशी

8 नवंबर देवउठनी एकादशी

पर अबूझ मुहूर्त होंगे।

फरवरी-मार्च के सावे

फरवरी :
19, 21, 22, 25, 27 व 28 मार्च: 2,3,7, 8, 9, 10 व 13 मीन मलमास खत्म होने के बाद सावे अप्रैल : 16, 17, 18, 19, 20, 22 मई : 6, 7, 12, 13, 14, 17, 18, 19, 23, 28, 29, 30 जून : 8, 9, 10, 11, 12, 16, 24, 25 जुलाई : 7, 8, 10, 11 नवंबर : 18, 20, 22 और 23 नवंबर को।

X
Jaipur News - rajasthan news holalkar will take place from march 14 and will start from march 15
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन