• Hindi News
  • National
  • Jaipur News Rajasthan News Jaipur Bandh Band For The First Time In Europe 50 Million Audiences Will Set A Century

जयपुर का धोद बैंड; पहली बार यूरोप में 50 लाख ऑडियंस के सामने लगाएंगे शो का शतक

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सिटी रिपोर्टर जयपुर

राजस्थान के 50 कलाकार यूरोप की जमीं पर अपने ढोल की थाप से राजस्थान का नाम रोशन करने जा रहे हैं। इतनी संख्या में पहली बार इन कलाकारों का ग्रुप यूरोप में राजस्थान की संस्कृति का प्रदर्शन करेगा। धोद बैंड के तहत यह सभी कलाकार यूरोप- फ्रांस, जर्मनी, इटली, बेल्जियम, स्वीट्जरलैंड सहित कई देशों में 4 महीने में आयोजित होने वाले विभिन्न फेस्टिवल्स में अपनी प्रस्तुतियां देंगे। ग्रुप के संस्थापक व फाउंडर रईस भारती ने बताया, ग्रुप ने परकशन पर आधारित एक कंसर्ट डिजाइन कर शादी-ब्याह में बजने वाले ढोल को एक अलग स्थान देने के मकसद से ढोल की प्रस्तुति को डिजाइन किया है। जिसमें अलग-अलग तरह से बजने वाले ढोल के तौर-तरीकों को पेश किया जाएगा। इसके हर शो में 50 हजार से ज्यादा ऑडियंस होगी। 100 से ज्यादा शो किए जाएंगे। ये सभी कलाकार जून के फर्स्ट वीक में यूरोप के लिए रवाना होंगे। गौरतलब है कि पिछले 18 सालों में बैंड विदेशों में 1500 से अधिक शो कर चुका है। इसके लिए हाल ही जापान में यूनेस्को अवार्ड से भी नवाजा गया था।

हाईप्रोफाइल तैयारी...अमेरिका के डिजाइनर्स ने बनाई है ड्रेस

फाउंडर रईस भारती ने बताया कि इन कलाकारों की ड्रेस अमेरिकन डिजाइनर्स ने डिजाइन की है। अक्टूबर में कलाकारों का सलेक्शन होने के बाद यूरोप से टीम आई थी, जिसने कलाकारों की नाप लेकर ड्रेस तैयार की है। इस ड्रेस की सबसे बड़ी खासियत है कि इस पर राजस्थानी कल्चर को दिखाया गया है। इनमें 25 ढोल वादक और 25 गायन, वादन और नृत्य कलाकार शामिल है।

ऐसे हुआ सिलेक्शन...पूरे राज्य से सौ कलाकार बुलाए थे, 25 चुने

इन कलाकारों का चयन ऑडिशन के आधार पर हुआ है। सितंबर में पूरे राजस्थान से सौ से अधिक ढोल कलाकारों को बुलाया गया था। इनमें बेस्ट 25 को चुना गया। इन सभी कलाकारों की उम्र 19 से 25 साल है। रईस अब तक 7 हजार से ज्यादा कलाकारों को विदेश में प्रस्तुति देने का मौका दे चुके हैं। पिछले महीने इन्होंने पद्मश्री कालबेलिया डांसर गुलाबो सपेरा को लेकर जापान में अपना कार्यक्रम पेश किया था।

खबरें और भी हैं...