पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जयपुर | जीएसटी की रा

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
1.15 लाख की रिश्वत लेने वाली एसीटीअाे के 3 बैंक खाताें में Rs.72.86 लाख अाैर पति व बेटे के खाते में 19.57 लाख मिले


जयपुर | जीएसटी की राशि रिफंड करने की एवज में 1.15 लाख रुपए की रिश्वत लेने के मामले में फंसी वाणिज्य कर विभाग की एसीटीअाे व उसके परिजनाें के 20 बैंक खाताें से एसीबी को 92.43 लाख रुपए मिले हैं। एसीबी के इतिहास में पहली दफा बैंक खाताें की तलाशी के दाैरान इतनी बड़ी राशि मिली है। एसीबी ने अब रिश्वत की अाराेपी एसीटीअाे अनुसूइया की अाय से अधिक संपत्ति हाेने के बिंदु पर भी जांच शुरू कर दी है। अनुसूइया का एक्सिस बैंक में लाॅकर है। एसीबी अब उसकी तलाशी लेगी। एसीबी के डीजी अालाेक त्रिपाठी ने बताया कि अनुसूइया के घर से 21 बैंक खाताें के दस्तावेज मिले थे। इनमें से 8 बैंक खाते उनके अाैर शेष पति व बेटे राेहित कुमार के नाम से थे। राेहित कुमार अाईअारएस अधिकारी है। बैंक खाताें की तलाशी के लिए अाईजी दिनेश एमएन के नेतृत्व में बनी टीम ने अनुसूइया के अशाेक मार्ग स्थित एक्सिस बैंक से 67 लाख रुपए बरामद किए। अन्य एक्सिस बैंक की ब्रांच में 3.70 लाख अाैर तिलक मार्ग स्थित एसबीअाई बैंक खाते में 2.20 लाख रुपए मिले। अनुसूइया के पति जगदीश और बेटे राेहित के बैंक खाते से से 19.57 लाख रुपए मिले। अनुसूइया अस्पताल में भर्ती है, एक्सिस बैंक का लॉकर उनकी माैजूदगी में खंगाला जाएगा।

पहली बार इतनी बड़ी बरामदगी

एसीबी काे सर्च में अनुसूइया के घर से Rs.53.13 लाख, Rs.16.84 लाख के जेवर मिले थे, बैंक खाताें से पहली बार इतनी राशि मिली

खबरें और भी हैं...