शिकायतों के साथ ही चढ़ती गई इमारतें अब हिसाब ढूंढ रहे जेडीए के अधिकारी

Jaipur News - जयपुर। जेडीए में अवैध निर्माण के मामलों को लीगल कार्रवाई के नाम पर मिलती आ रही शह का पर्दाफाश हो रहा है। दो फरवरी को...

Bhaskar News Network

Feb 14, 2019, 07:20 AM IST
Jaipur News - rajasthan news jeddah officials are now looking for accounts with complaints
जयपुर। जेडीए में अवैध निर्माण के मामलों को लीगल कार्रवाई के नाम पर मिलती आ रही शह का पर्दाफाश हो रहा है। दो फरवरी को न्यू सांगानेर रोड पर सील तोड़कर चढ़ाई गई बिल्डिंग के ध्वस्तीकरण की कार्रवाई के बाद जब पेंडिंग मामलों का पता कराया गया तो कहीं पर भी व्यवस्थित रिकॉर्ड नहीं मिला। और तो और कोर्ट में चल रहे मामले, अवैध निर्माण के तहत दिए जा रहे नोटिस का रिकॉर्ड भी इंस्पेक्टर नहीं रख पाए। जिसके बाद जेडीए ट्रिब्यूनल कोर्ट सहित डॉयरेक्टर लॉ के यहां से रिकॉर्ड मांगा गया है। अभी तक 2200 से ज्यादा पेंडिंग, अव्यवस्थित और अधूरे छोड़ी गई कार्रवाई के मामले सामने आए हैं। चीफ एनफोर्समेंट ऑफिसर और एडिशनल एसपी रघुवीर सैनी ने बुधवार को आदेश जारी कर अवैध निर्माण के कोर्ट में पेंडिंग मामलों की प्रभावशाली पैरवी करने को कहा है। इससे पहले जेडीसी टी. रविकांत ने भी निर्देश दिए हैं कि शिकायतों का समाधान किया जाए। इस सख्ती के बाद एनफोर्समेंट शाखा में लापरवाही करते आ रहे प्रवर्तन अधिकारी, कार्यालय स्टाफ में पहली बार चिंता की लकीरें दिखी हैं। इस बारे में जेडीए के चीफ एनफोर्समेंट अफसर रघुवीर सैनी का कहना है कि अवैध निर्माण से जुड़े नोटिस और पेंडिंग कार्रवाई का रिकॉर्ड अव्यवस्थित और गुम है। कोर्ट और डायरेक्टर लॉ के यहां से रिकॉर्ड मंगवाकर इसको सूचीबद्ध करा रहे हैं। जनता को राहत दिलाने के लिए उसकी शिकायतों पर प्रभावशाली कार्रवाई होगी।

शिकायत से कार्रवाई तक का रिकॉर्ड, तैयार होगा, लापरवाही पर ईओ जिम्मेदार माने जाएंगे

जेडीए में एक ही शिकायत कॉल सेंटर से राजस्थान सरकार के संपर्क पोर्टल पर घूमती रहती है। वजह कहीं पर शिकायत को लेकर उस पर जवाबदेही और जिम्मेदारी तय नहीं होती। भास्कर ने जगतपुरा में फर्जी कोर्ट स्टे के नाम पर बरसों से टलती आ रही कार्रवाई तो सील के मामलों में लीगल नोटिस के बावजूद बिल्डिंगें चढ़ने का खुलासा किया था। नई सरकार में जेडीसी सहित एसपी और एडिशनल एसपी ने जनता की शिकायतों के रिकॉर्ड मांगे तो इनकी कहीं कोई व्यवस्थित जानकारी नहीं मिली।

X
Jaipur News - rajasthan news jeddah officials are now looking for accounts with complaints
COMMENT