‘खुद में कबीर-कबीर में हम’ में दिखा कबीर का संघर्ष

Jaipur News - सिटी रिपोर्टर . जयपुर कबीर के दर्शन को मधुर संगीत और ओडिसी नृत्य के साथ प्रस्तुत किया। वहीं साहित्यकार भीष्म...

Feb 26, 2020, 08:40 AM IST
Jaipur News - rajasthan news kabir39s struggle in 39kabir mein kabir mein kabir mein39

सिटी रिपोर्टर . जयपुर

कबीर के दर्शन को मधुर संगीत और ओडिसी नृत्य के साथ प्रस्तुत किया। वहीं साहित्यकार भीष्म साहनी के उपन्यास ‘कबीरा खड़ा बाजार में’ से कुछ संवाद लेकर इसमें नाटक का अभिनव प्रयोग किया गया। मौका था मंगलवार को रवींद्र मंच पर आयोजित 25वें उदय शंकर बैले एवं नृत्य समारोह का।

श्रुति मंडल एवं राजस्थान कला, साहित्य एवं संस्कृति विभाग की ओर से आयोजित कार्यक्रम में पद्मश्री रंजना गौहर ने ओडिसी शैली पर आधारित बैले ‘खुद में कबीर-कबीर में हम’ प्रस्तुत किया। 70 मिनट की इस नृत्यनाटिका के जरिए निर्देशक ने कबीर का संघर्ष व संदेश कितने सामयिक हैं, इसे दिखाने का प्रयास किया गया। ‘खुद में कबीर-कबीर में खुद’ उस समय को बताती है जब कबीर काशी में रहे। उस युग के अंधविश्वास और कट्टरता के विरुद्ध कबीर ने आवाज उठाई, उन्हें बहुत अपमान व प्रताड़ना भी सहनी पड़ी पर वे सच कहने से नहीं चूके। वर्तमान संदर्भों में भी कबीर का संघर्ष व संदेश कितने सामयिक हैं, इसे भी दिखाने का प्रयास किया गया।

X
Jaipur News - rajasthan news kabir39s struggle in 39kabir mein kabir mein kabir mein39

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना