पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Jaipur News Rajasthan News Neat Is Necessary For Doctors To Teach In Ayush Colleges

अायुष काॅलेजों में पढ़ाने के लिए चिकित्सकों के लिए नीट जरूरी

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
अायुर्वेद, होम्योपैथी, यूनानी, सिद्धा-अायुष कालेजों में वही चिकित्सा शिक्षक पढ़ा सकेंगे जिन्होंने अायुष नेशन टीचर्स एलिजिबिलिटी टेस्ट पास कर लिया हो। इस अाशय का पत्र अमेंडमेंट्स इंडियन मेडिसिन सेंट्रल काउंसिल रेगुलेशन 2016 को अागे बढ़ाते हुए सीसीअाईएम, दिल्ली के असिस्टेंट रजिस्ट्रार के नटराजन ने प्रदेश समेत सभी राज्यों के स्वास्थ्य सचिवों व सभी अायुष डाइरेक्टर्स को जारी किया है। यह सभी शासकीय व निजी अायुष कालेजों पर लागू होगा। सूत्रों की मानें तो सेंट्रल काउंसिल अाफ मेडिसिन (सीसीअाईएम) के स्थान पर नई गर्वनिंग बॉडी के स्थान लेने के पहले केंद्र सरकार चाहती है कि चिकित्सा के साथ-साथ अायुष चिकित्सा शिक्षा की गुणवक्ता में भी सुधार हो सके। अायुष मेडिकल एसोसिएशन के राष्ट्रीय प्रवक्ता डॉ. राकेश पांडेय का कहना है केंद्र सरकार चाहती है कि छात्रों को राष्ट्रीय स्तर के चिकित्सा शिक्षक ही अध्ययन-अध्यापन कार्य करा सकें। अाशंका है कि इससे अायुष कालेजों की मान्यता प्रभावित होगी लेकिन गुणवत्ता में जरूर सुधार होगा। अाॅफिशियल गजट में प्रकाशित होने के बाद यह नियम लागू हो जाएगा। नियम नोटिफाइड हो चुका है पर कालेज स्तर पर अभी प्राप्त नहीं हुअा है कि इसे कब से लागू करना है।

दो साल के अंदर पात्रता परीक्षा क्लियर करना होगा

जो नियम लागू होने जा रहा है उसमें जो लेक्चरर हैं उन्हें भी दो साल के अंदर पात्रता परीक्षा क्लियर करना होगा। तभी वे रीडर या फिर प्रोफेसर के लिए योग्य होंगे। जो लोग पीएचडी कर चुके हैं उन्हें प्राथमिकता मिलेगी।

खबरें और भी हैं...