ऑनलाइन रिकॉर्ड खंगाला जाएगा, 7 साल साल में दवा का क्या खेल चला, पता चलेगा

Jaipur News - एसएमएस अस्पताल की लाइफ लाइन में लगी आग के बाद भले ही दस्तावेज जल गए हों लेकिन पिछले सात साल का ऑनलाइन रिकॉर्ड...

Bhaskar News Network

May 13, 2019, 09:10 AM IST
Jaipur News - rajasthan news online records will be tracked what game of medicine will run in 7 years
एसएमएस अस्पताल की लाइफ लाइन में लगी आग के बाद भले ही दस्तावेज जल गए हों लेकिन पिछले सात साल का ऑनलाइन रिकॉर्ड खंगाला जाएगा। इसके लिए लाइफ लाइन स्टोर्स को दवा देने वाले, रिसीव करने वाले और बची दवाइयों का ब्यौरा, रिफंड स्टाॅक सभी की जांच हो सकेगी। आग के बाद भास्कर के लगातार खुलासे के बाद जांच कमेटी ने इस सम्बन्ध में निर्देश दिए और सारा डेटा ले लिया गया है। अब इस डेटा के आधार पर लाइफ लाइन की जांच की जा सकेगी। वहां भास्कर की खबरों के आधार पर उन मामलों की भी जांच की जाएगी, जब इस लाइफ लाइन में भ्रष्टाचार हुआ था और किन-किन पर कार्रवाई की गई थी।

बैठक में एनएचएम निदेशक डॉ. समित शर्मा और प्रिंसीपल डॉ. सुधीर भंडारी सहित करीब 15 जने मौजूद थे। भास्कर की खबर के अाधार पर लाइफ लाइन की एलडी (लेट डिलीवरी चार्जेज) जांच की बात कही गई। इस पर फार्मासिस्ट सुनील मीणा को बुलाया गया। उसने कहा कि जो रिकॉर्ड जला है, वह वर्ष 2012 से पहले का है। साथ ही उसने कहा कि 80 लाख की दवाइयां बच भी गई हैं। इस पर अधिकारियों को शक हुआ और उन्होंने ड्रग कंट्रोलर राजाराम को बुलाकर उन दवाइयों को जांचने के निर्देश दिए। अब यह भी जांच होगी कि आखिर इतनी दवाइयां बची कैसे और कहीं ये बाद में तो नहीं रखी गई।

साथ ही कम्प्यूटर सॉफ्टवेयर से पूरा रिकॉर्ड निकालने के निर्देश दिए गए। कुछ ही देर बाद वर्ष 2012 से वर्ष 2019 तक का पूरा रिकॉर्ड निकाल लिया गया। एक डॉक्टर ने कहा कि पिछले तीन महीने में ही इस पर एलडी लगाई गई है। तो अन्य अधिकारी बोले कि पूरे सात साल की एलडी की जांच की जाएगी। यह भी पता किया जाएगा कि पहले यह वसूली क्यों नहीं की गई। वहीं तुरंत ही लाइफ लाइन को सीज कर दिया गया है।

बैठक में पुराने मामलों की जांच की बात हुई तो एक डॉक्टर ने कहा कि मेरे समय में कोई गड़बड़ नहीं हुई। इस पर डॉ. खिलानी ने कहा कि मुझे पता है कब क्या हुआ है। इस पर इन डॉक्टर ने फिर से सफाई देनी चाही लेकिन डॉ. समित शर्मा ने कहा कि आप चुप रहें, सब सामने आ जाएगा। भास्कर पड़ताल में सामने आया है कि पिछले सात साल की जांच में करीब चार करोड़ की एलडी मिलना तय है। हालांकि कुछ अधिकारी इस मामले को दबाने की भरसक कोशिश कर रहे हैं लेकिन वरिष्ठ अधिकारियों ने उन्हें अप्रत्यक्ष रूप से नसीहत दे दी है।

फार्मासिस्ट बोला- जलने से बच गई हैं 80 लाख की दवाइयां अधिकारी बोले- जांच करेंगे कहीं ये दवा बाद में तो नहीं रखी

भास्कर की खबरें बनी जांच का अधार

Jaipur News - rajasthan news online records will be tracked what game of medicine will run in 7 years
X
Jaipur News - rajasthan news online records will be tracked what game of medicine will run in 7 years
Jaipur News - rajasthan news online records will be tracked what game of medicine will run in 7 years
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना