लंबे समय तक ऑफिस में बैठे रहना बना अर्ली डेथ का रिस्क फैक्टर

Jaipur News - महिलाओं और बुजुर्गों में शारीरिक रूप से एक्टिव नहीं होना बीमारियों की बड़ी वजह बन रहा है। इससे उनमें हार्ट,...

Jan 25, 2020, 08:35 AM IST
Jaipur News - rajasthan news risk factor of early death made to sit in office for a long time
महिलाओं और बुजुर्गों में शारीरिक रूप से एक्टिव नहीं होना बीमारियों की बड़ी वजह बन रहा है। इससे उनमें हार्ट, मसल्स,हड्डियांें से संबंधित बीमारियां बढ़ रही हैं। बीमारियों से बचने के लिए शारीरिक तौर पर एक्टिव रहना जरूरी है। इसके लिए उन्हें ऐसी फिजिकल एक्टीविटीज करनी चाहिए, जिसमें मांसपेशियां काम करें। शरीर की बेसलाइन एनर्जी से ऊपर एनर्जी खर्च हो पाए। आजकल ऑफिस में लंबे समय तक बैठे रहना यानी एक्सटेंड सिटिंग भी अर्ली डेथ का रिस्क फैक्टर बन चुकी है।

need to know

डॉ. मृणाल जोशी, रिहैबिलिटेशन एक्सपर्ट, एसएमएस हॉस्पिटल, जयपुर

कौन-कौन सी एक्सरसाइज करें: रनिंग, साइकिलिंग, ट्रेड मील करें

यह सिटिंग कैंसर, हार्ट, डायबिटीज जैसी बीमारियों की संभावना बढ़ा देती है। वहीं, एक्सरसाइज करते रहने से डायबिटीज, डिसलिपिडिमिया, कैंसर से बचाव होता है। समझ और याददाश्त में संतुलन बने रहने से अल्जाइमर और डिमेंशिया कम होता है। रेगुलर एक्सरसाइज करने से वजन नियंत्रित और हड्डियां मजबूत रहेंगी। ओल्ड एज में एक्सरसाइज करने से शरीर का संतुलन बना रहेगा। गिरेंगे नहीं। रेगुलर एक्सरसाइज पर फोकस करना चाहिए।

स्ट्रेंथनिंग एक्सरसाइज: वजन उठाने और रेजिस्टेंस बढ़ाने वाला वर्कआउट करें

एक्सरसाइज करते समय इन बातों का जरूर ध्यान रखें

सप्ताह में चार से पांच दिन एक्सरसाइज करें। कम से कम 30 मिनट एक्सरसाइज करें। कुछ ऐसी एक्सरसाइज करें, जिसमें शरीर की सभी मसल्स शामिल हो पाएं। गाइडलाइन के अनुसार, सप्ताह में 100-150 मिनट एरोबिक एक्सरसाइज करें। दो दिन मसल्स स्ट्रेंथनिंग एक्सरसाइज पर भी ध्यान दें। रोजाना वॉक करना अच्छा है।

मोबिलिटी एक्सरसाइज : ज्यादा से ज्यादा चलें

हार्ट रेट के मुताबिक करें वर्कआउट

किसी तरह की मेडिकल प्रॉब्लम होने पर धीरे-धीरे हार्ट रेट का ध्यान रखते हुए एक्सरसाइज करें। शुरूआत में हार्ट रेट की 40 परसेंट ही एक्सरसाइज करें। धीरे-धीरे 80-85 परसेंट तक बढाएं। हाई इंटेंसिटी एक्सरसाइज करें। एक्सरसाइज से वेट लॉस होता है। एक्सरसाइज के बाद 500 एमएल पानी पिएं। जिन्हें क्रॉनिक रेस्पिरेटरी डिजीज, अस्थमा, ऑर्थराइटिस, डायबिटीज होने पर डॉक्टर की सलाह लेकर एक्सरसाइज करनी चाहिए।

Jaipur News - rajasthan news risk factor of early death made to sit in office for a long time
X
Jaipur News - rajasthan news risk factor of early death made to sit in office for a long time
Jaipur News - rajasthan news risk factor of early death made to sit in office for a long time
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना