Rs.65 का हेलमेट ट्रैफिक चालान से तो बचा सकता है पर जिंदगी नहीं

Jaipur News - दुर्घटनाओं मे घटिया हेलमेट लगाने या हेलमेट नहीं लगाने के कारण सिर पर चोट लगने से करीब दस प्रतिशत घायलों की हर वर्ष...

Bhaskar News Network

Feb 14, 2019, 07:17 AM IST
Jaipur News - rajasthan news rs65 helmet can save traffic from invoices but not life
दुर्घटनाओं मे घटिया हेलमेट लगाने या हेलमेट नहीं लगाने के कारण सिर पर चोट लगने से करीब दस प्रतिशत घायलों की हर वर्ष मौत हो जाती है।

इतना होने के बाद भी शहर में हर चौराहे पर पुलिस के चालान से बचने के लिए 65 रुपए में हेलमेट धड़ल्ले से बिक रहे है। ऐसे में वाहन चालक भी खुद की सुरक्षा के बजाय पुलिस चालान से बचने के लिए इन घटिया हेलमेट का उपयोग करते हैं। वहीं जाे बेहतर क्वालिटी का हेलमेट लगाते हैं वे हेलमेट को सही तरीके से नहीं पहनते। जिसके चलते हादसा होने पर गलत तरीके से पहने हेलमेट सिर से ही निकल जाता है या फिर घटिया हेलमेट चकनाचूर हो जाता है। हाल ही में टोंक रोड पर बी टू बाइपास चौराहे पर हुए हादसे में हेलमेट सिर से निकल जाने के कारण सिर में मल्टीपल फ्रेक्चर हो गए। जिसकी वजह से जान चली गई। परेशान करने वाली बात यह कि सरकार ने आईएसआई मार्का हेलमेट तय कर रखा है लेकिन घटिया हेलमेट की बिक्री नहीं रोकी जाती है।

हादसे कभी बताकर नहीं आते

...इसलिए हेलमेट लगाकर चलें

घटिया हेलमेट चौराहे-चौराहे बिकते हैं पर कार्रवाई नहीं होती

हेलमेट टूट कर युवक के चेहरे में घुस गया

अक्टूबर 2018 में टोंक रोड पर पिंजरापोल गौशाला के पास मिनी बस की टक्कर से बाइक सवार युवक घायल हो गया। युवक ने घटिया हेलमेट लगा रखा था। गिरने के दौरान हेलमेट टूट गया और टूटे हेलमेट के टुकड़े युवक की आंख के पास घुस गए। जिससे चेहरे पर टांके आए। कई बार घटिया हेलमेट जानलेवा हो जाता है।

वर्ष 2017 339 लोगों की मौत हुई। इनमें 29 वाहन चालकों ने घटिया हेलमेट लगा रखा था

वर्ष 2018 308 की मौतें हादसों में।

जांच में सामने आया 10 प्रतिशत ने या तो हेलमेट नहीं लगा रखा था, या टोपीनुमा हेलमेट लगा रखा था।

सिर पर चोट से 10% लोगों की मौत होती है इनमें अधिकतर या तो हेलमेट नहीं लगाते या फिर घटिया हेलमेट लगाते हैं

सस्ता हेलमेट, ज्यादा मुनाफा और पुलिस भी नहीं रोकती

सस्ता हेलमेट बेचने पर विक्रेताओं को ज्यादा मुनाफा होता है जबकि स्टैंडर्ड कंपनियों का हेलमेट में ज्यादा मुनाफा नहीं होता। जिसके चलते चौराहों पर हेलमेट विक्रेता केवल सस्ते व घटिया क्वालिटी के हेलमेट रखते हैं। ट्रांसपोर्ट नगर में हेलमेट बेचने वाले नानगराम खटीक का कहना है कि डेढ़ सौ रुपए के हेलमेट में 40 से 50 रुपए तक की बचत हो जाती है। जिसके चलते वे सस्ता हेलमेट ही रखते हैं। एसीपी ट्रैफिक मेघचंद मीना का कहना है चालान से बचने के लिए घटिया हेलमेट लगाते हैं। हेलमेट सुरक्षा के लिए है। वाहन चालक सुरक्षा के लिए हेलमेट लगाएं। मजबूत हेलमेट पहनने के बाद भी इसके बेल्ट को बांधंे। ताकि सुरक्षित रहे।

Jaipur News - rajasthan news rs65 helmet can save traffic from invoices but not life
X
Jaipur News - rajasthan news rs65 helmet can save traffic from invoices but not life
Jaipur News - rajasthan news rs65 helmet can save traffic from invoices but not life
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना