सोनाेग्राफी में 9वंे महीने तक जुड़वां दिखे, मगर िडलीवरी के बाद एक ही बच्चा िदया

Jaipur News - सोनोग्राफी में जुड़वां बच्चे और डिलीवरी हुई एक ही बच्चे की। दूसरा बच्चा कहां गया? इसे ना तो डॉक्टर बता पा रहे हैं और...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 08:35 AM IST
Jaipur News - rajasthan news sonagrafi appeared twins for nine months but after delivery only one child gave it
सोनोग्राफी में जुड़वां बच्चे और डिलीवरी हुई एक ही बच्चे की। दूसरा बच्चा कहां गया? इसे ना तो डॉक्टर बता पा रहे हैं और ना ही अस्पताल प्रशासन। यह अजब वाकया हुआ चांदपोल स्थित जनाना अस्पताल में। मामले को लेकर परिजनों ने जमकर हंगामा किया और दूसरे बच्चे की मांग करने लगे। चार घंटे से अधिक समय तक चले हंगामे के दौरान पुलिस मौके पर पहुंची लेकिन मामला इतना बढ़ा कि वह भी परिजनों को शांत नहीं करा सकी। मामले में परिजनों ने अस्पताल लिखित शिकायत दी है। इसमें लिखा गया है कि अस्पताल ने पहले जुड़वां बच्चों की बात कही थी और एक ही हुआ है तो स्टाफ ने बेतुका बयान दिया- हो सकता है कि बच्चे आपस में झगड़ लिए होंगे इसलिए एक मर गया। वहीं अस्पताल प्रशासन भी हतप्रभ है कि आखिर ऐसा कैसे हुआ?

जिस डॉक्टर ने सोनाेग्राफी की थी, उसने कहा- जुड़वां बच्चे दिखे थे

9 जुलाई को जनाना अस्पताल में जयपुर के हाथोज निवासी रमादेवी भर्ती हुईं। यहां डॉ. सयुंता गुप्ता ने सोनोग्राफी की। जुड़वां बच्चे बताए। 10 जुलाई को डॉ. अनिल गुर्जर ने सिजेरियन डिलीवरी कराई और परिजनों को बच्चा सौंप दिया। परिजनों ने कहा-एक ही बच्चा क्यों, जुड़वां बताए थे, तो डॉक्टर्स ने कहा कि एक ही हुआ है। दूसरा था ही नहीं।

3 दिन बाद बढ़ा मामला... परिजन बोले-हमें अपना दूसरा बच्चा चाहिए

शनिवार को रमादेवी के कई परिजन आए और न्होंने अस्पताल प्रशासन से रिकॉर्ड मांगा। लेकिन प्रशासन ने मना कर दिया। कहा कि डिस्चार्ज के समय ही दस्तावेज दे सकते हैं। बात बढ़ी, परिजनों ने कहा-उन्हें दूसरा बच्चा चाहिए। यदि बच्चा नहीं हुआ तो वह कहां गया। परिजनों ने कहा कि वे एफआईआर कराएंगे। लेकिन कोई भी दस्तावेज नहीं होने से केस नहीं करा पाए।

बड़ा सवाल, आखिर ऐसा कैसे हो सकता है?

कब-कब हुई सोनोग्राफी




पीड़ित मां

खुद जनाना अस्पताल प्रशासन मान रहा है कि सोनोग्राफी में दो ही बच्चे हैं। लेकिन सर्जरी में एक ही बच्चा कैसे आया?

पेशेंट की ननद तारा देवी ने लिखित शिकायत में कहा- पूछने पर स्टाफ बोला - बच्चों का पेट में झगड़ा हो गया, इसलिए एक मर गया


(शब्दश: जो शिकायत में लिखा गया)

इस मामले में सर्जन डॉ. अनिल और सोनोलॉजिस्ट डॉ. सयंुता गुप्ता से भी विस्तृत जानकारी मांगी गई है।

पीड़ित : बच्चा नहीं हुआ तो कहां गया पुलिस कहती है, लेने के देने पड़ जाएंगे

अस्पताल : सिजेरियन के दौरान दूसरा बच्चा था ही नहीं, ये कैसे हुआ पता नहीं

जनाना अस्पताल के बाहर प्रदर्शन

िजम्मेदारों के जवाब


...और पीड़ित का दर्द


Jaipur News - rajasthan news sonagrafi appeared twins for nine months but after delivery only one child gave it
X
Jaipur News - rajasthan news sonagrafi appeared twins for nine months but after delivery only one child gave it
Jaipur News - rajasthan news sonagrafi appeared twins for nine months but after delivery only one child gave it
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना