सरकार के आधा दर्जन विभागाें से ही टैक्स के बकाया हैं 23 हजार कराेड़

Jaipur News - मुख्यमंत्री अशोक गहलोत वित्तीय तंगहाली के लिए लगातार केंद्र सरकार को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। सीएम खुद पिछले 15...

Feb 22, 2020, 08:41 AM IST

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत वित्तीय तंगहाली के लिए लगातार केंद्र सरकार को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। सीएम खुद पिछले 15 दिन में चार बार दोहरा चुके हैं कि केंद्र की भाजपा सरकार ने उनके 19 हजार करोड़ रुपए रोक रखे हैं। लेकिन एक हकीकत यह भी है कि सरकार खुद अपने महकमों से बकाया टैक्स की वसूली नहीं कर पा रही है। सेल्स टैक्स, स्टांप, भू-राजस्व व एक्साइज सहित अन्य विभागों से सरकार को 23 हजार 411 करोड़ का बकाया टैक्स वसूलना है। इसमें अकेले सेल्स टैक्स के 21 हजार 343 करोड़ रुपए हैं।

इसके अलावा भू-राजस्व के 272 करोड़, स्टांप एंड रजिस्ट्रेशन के 450 करोड़, एक्साइज के 201 करोड़,वाहन कर 53.21 करोड़ व माल यात्री कर के 728 करोड़ रुपए बकाया है।

गारंटी 77 हजार करोड़ के पार: सरकार के कई महकमें अपनी योजनाओं को चलाने के लिए बड़ी मात्रा में सरकार की गारंटी पर रकम उधार ले रहे हैं। पिछले कुछ समय से सरकार की कुल गारंटी 77 हजार करोड़ रुपए के पार पहुंच गई है।

टैक्स मिले तो कई योजनाएं हो सकती हैं पूरी: यदि सरकार इस राशि को समय पर वसूले तो सड़क, पानी, बिजली से जुड़ी कई परियोजनाओं को भी पूरा किया जा सकता है।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना