• Hindi News
  • Rajasthan
  • Jaipur
  • News
  • Jaipur News rajasthan news the congress and the government39s prestige in the byelection bypoll will make public the work of government and the organization after the loss

विधानसभा उपचुनाव में कांग्रेस और सरकार की प्रतिष्ठा दांव पर लोस चुनाव बाद सरकार और संगठन के कामकाज का जनता करेगी आंकलन

Jaipur News - लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद के बाद प्रदेश कांग्रेस और सरकार की प्रतिष्ठा एक बार फिर से दांव पर लगने वाली है।...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 08:30 AM IST
Jaipur News - rajasthan news the congress and the government39s prestige in the byelection bypoll will make public the work of government and the organization after the loss
लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद के बाद प्रदेश कांग्रेस और सरकार की प्रतिष्ठा एक बार फिर से दांव पर लगने वाली है। झुझूनू जिले के मंडवा और नागौर के खींवसर विधानसभा सीट पर होने वाले चुनाव में स्थानीय जनता की ओर से पार्टी और सरकार के कामकाज का आंकलन करेगी। यदि इन दोनों सीटों को जीतने की स्थिति में न केवल कांग्रेस सरकार पूरी तरह बहुमत में आ जाएगी बल्कि बसपा और निर्दलीय विधायकों पर निर्भरता भी खत्म हो जाएगी। हालांकि ये सीटों आरएलडी और भाजपा कोटे की खाली हुई हैं, जिस पर दोनों ही दल अपनी को बचाने के लिए पूरी ताकत लगा देंगे।

मंडावा से भाजपा विधायक नरेंद्र खीचड़ को झुझूनू लोकसभा सीट से चुनाव जीत गए थे। इसके बाद उन्होंने विधायक पद से इस्तीफा दे दिया था। ऐसे में यह सीट खाली हुई हैं। जबकि नागौर के खींवसर विधानसभा से हनुमान बेनीवाल विधायक थे, वह अब नागौर से सांसद बन चुके हैं।

ऐसे में यह दोनों ही सीटें खाली चल रही है। इन दोनों ही सीटों पर आने वाले दो से तीन महीने के भीतर उप चुनाव होने की संभावना है। इन दोनों ही सीटों भाजपा गठबंधन की कब्जा बनाए रखने की कोशिश होगी, जबकि कांग्रेस के लिए इन सीटों पर अपने खाते में डालने के लिए चुनौती होगी। इन दोनों ही सीटों के लिए कांग्रेस के भीतर प्रत्याशियों के चयन को लेकर सुगबुगाहट शुरू हो गई है। जहां खींवसर से ज्योति मिर्धा और सवाई सिंह के , वहीं मंडावा से चंद्रभान के चुनाव लड़ने की चर्चा शुरू हो गई है। इसको लेकर सरकार से लेकर पार्टी तक के भीतर मंथन का दौर चल रहा है।

दोनों सीटों पर सरकार का फोकस



उपचुनाव को ध्यान में रखते हुए सरकार की ओर से भी इन दोनों सीटों पर फोकस किया जा रहा है। उसी के अनुसार रणनीति तैयार की जा रही है। स्थानीय कार्यकर्ताओं के कामकाज भी उसी के अनुसार किया जा रहा हैं, जिससे सरकार 102 के आंकड़े को पूरा कर सके। साथ ही बसपा और निर्दलीय विधायकों पर निर्भरता खत्म हो सके।

X
Jaipur News - rajasthan news the congress and the government39s prestige in the byelection bypoll will make public the work of government and the organization after the loss
COMMENT