महाशिवरात्रि पर आस्था की कतार; घर-घर मंदिर, मन-मन शंकर

Jaipur News - फाल्गुन मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी शुक्रवार महाशिवरात्रि को शहर शिव भक्ति में डूबा रहा।। इस बार यह पर्व और भी...

Feb 22, 2020, 08:31 AM IST

फाल्गुन मास की कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी शुक्रवार महाशिवरात्रि को शहर शिव भक्ति में डूबा रहा।। इस बार यह पर्व और भी अधिक खास और कई दुर्लभ संयोगों में मनाया गया। दरअसल, 117 साल बाद महाशिवरात्रि पर शनि अपनी स्वयं की राशि मकर में और शुक्र ग्रह अपनी उच्च राशि मीन रहा। साथ ही सर्वार्थ सिद्धि योग भी होने से भक्तों ने शिव पूजन के साथ ही नए कार्यों की शुरुआत की कार्यों की शुरुआत भी की।

एकलिंगेश्वर महादेव मंदिर के शाम 5:30 बजे दरवाजे बंद होने से सैकड़ों भक्त निराश लौटे: साल में एक बार भक्तों के लिए खुलने वाले मोती डूंगरी, शंकर गढ़ी के एकलिंगेश्वर महादेव मंदिर में गुरुवार रात से ही कतार लगनी शुरू हो गई। कतार एक किलोमीटर से भी लंबी थी, जो शुक्रवार देर शाम अनवरत जारी रही। भक्तों को मंदिर में सुबह 4 बजे पट खुलने के बाद प्रवेश दिया गया। शाम को 5:30 बजे बाद मंदिर के द्वार बंद कर दिए गए। इसके बाद किसी भक्त को मंदिर के अंदर प्रवेश नहीं दिया गया। इससे सैकंडों भक्तों को निराश होकर लौटना पड़ा। वे आपस में कहते नजर कि अब बाबा के दर्शनों को एक साल का इंतजार करना पड़ेगा।

यहां भी जलाभिषेक के लिए लंबी कतारें

राजराजेश्वर महादेव मंदिर: राजाओं सा शृंगार

सिटी पैलेस में महाराजा रामसिंह द्वितीय के शासन काल में बने प्राचीन राजराजेश्वर महादेव मंदिर के पट भी आम लोगों के लिए साल में दो बार ही खुलते हैं। एक शिवरात्रि और दूसरा गोवर्धन पूजा के दिन। यहां महादेव का राजाओं की तरह र|ों और सोने-चांदी से शृंगार किया गया। हजारों भक्तों ने महादेव के दर्शन किए। इसी प्रकार जयपुर रियासतकालीन चांदनी चौक स्थित प्रतापेश्वर महादेव में भोलेनाथ की प्रतिमा की लोगों ने जलाभिषेक व पूजा अर्चना की।

सदाशिव ज्योतिर्लिंगेश्वर: 9 ग्रह अभिषेक

कूकस में शक्करकुई के सदाशिव ज्योतिर्लिंगेश्वर महादेव मंदिर में भक्त महादेव का जलाभिषेक व पूजन करने पहुंचे। नौ धातु और नौ र|ों के महादेव का जलाभिषेक कर भक्तों ने नौ ग्रहों के पूजन का भी फल प्राप्त किया। इस मौके पर कवि सम्मेलन भी हुआ। जानेमाने कवियों के साथ उभरते हुए कवियों ने भी अपनी रचनाएं सुनाई। सभी भक्तों को ठंडाई और पंगत प्रसादी वितरित की।

महाकालेश्वर महादेव रुद्राभिषेक व रुद्र पाठ

झारखंड महादेव मंिदर... जलाभिषेक के लिए कतारें

ताड़केश्वर महादेव मंिदर... ताड़क बाबा के जयकारे

जंगलेश्वर महादेव मंदिर, चमत्कारेश्वर महादेव मंदिर प्राचीन अामेश्वर महादेव, रोजगारेश्वर महादेव मंदिर, जंगलेश्वर महादेव, डबल शंकर महादेव मंदिर, खोले के हनुमानजी मंदिर स्थित शिवालयों, कॉलोनियों में स्थित शिवालयों में सैकड़ों भक्तों ने जलाभिषेक, पूजन व अराधना की। इसके अलावा भी कई मंदिरों में भक्तों की लंबी कतारें लगी रही।

चमत्कारेश्वर महादेव

जंगलेश्वर महादेव

महाकालेश्वर महादेव दक्षिण मुखी बालाजी धाम में बालमुकुंदाचार्य के सानिध्य में सामूहिक रुद्राभिषेक एवं रुद्र पाठ किया गया।

क्वींस रोड स्थित झारखंड महादेव मंदिर में मेला भरा। भक्तों ने लंबी लाइन में लगकर सुबह 5 बजे से शाम तक जलाभिषेक और पूजन किया। मेले में 125 कार्यकर्ता व्यवस्थाएं संभाली। देर शाम महादेव जी का बाहर से मंगाए गए पुष्पों से शृंगार किया गया। संध्या आरती और शृंगार झांकी सजाई गई।

चौड़ा रास्ता स्थित ताड़केश्वर महादेव मंदिर में ताड़क बाबा के जयकारों के साथ चारदीवारी के हजारों भक्तों ने रुद्राभिषेक, जलाभिषेक किया। शाम को बाबा का पुष्पों से नयनाभिराम शृंगार किया गया। भूतों की टोली ने भक्तों को रोमांचित किया। संध्या आरती और भजनों का कार्यक्रम हुआ।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना