1 Cr की नौकरी छोड़ IAS क्यों चुना ? जानिए UPSC में 1st रैंक लाने वाले कनिष्क ने क्या दिया इसका जवाब

राजस्थान न्यूज: 6 सवालों के जवाबों से जानिए यूपीएससी टॉपर कनिष्क कटारिया की सक्सेस स्टोरी

Dainikbhaskar.com

Apr 08, 2019, 09:46 AM IST
Rajasthan news in hindi: UPSC exam topper Kanishka Kataria Share his success story

सीकर (राजस्थान). इच्छाशक्ति। ये पहली चीज है जो, सिविल सर्विसेज एग्जाम में सफलता के लिए जरूरी है। सिविल सर्विसेज के लिए मैंने मात्र 10-11 माह की कोचिंग की है वो भी सिर्फ पैटर्न समझने और मुख्य विषय गणित की तैयारी के लिए। सबसे ज्यादा फोकस सेल्फ स्टडी पर किया। हर दिन कम से कम 10 घंटे पढ़ाई की। हर दिन दो से तीन अखबार पढ़ता और इंटरनेट से कई वेबसाइटों से नोट्स तैयार करता। लक फैक्टर उसी का साथ देता है जो लक्ष्य तय कर मेहनत करते हैं। कभी भी लक जैसे शब्द पर विश्वास नहीं करें यह सिर्फ कहावतों में ही सही लगता है। मुझे यह उम्मीद नहीं थी कि मैं सिविल सर्विसेज टॉप करूंगा लेकिन पेपर और इंटरव्यू बहुत अच्छे हुए इसलिए पूरा कॉन्फिडेंस था कि सिविल सर्विसेज में मुझे आईएएस तो पक्का मिलेगा। कैडर प्रेफरेंस में मेरी सबसे पहली पसंद राजस्थान रहेगी। पहली रैंक हासिल करने वाले कनिष्क कटारिया की जुबानी, 6 सवालों के जवाबों से जानिए सफलता की कहानी

Q. 1 करोड़ की नौकरी छोड़ आईएएस क्यों चुना ?
A.
समाज से डायरेक्ट कनेक्ट होने के लिए

Q. सोशल मीडिया का इस्तेमाल करते हैं ?
A. समझदारी से इस्तेमाल करें तो सोशल मीडिया काफी उपयोगी है। हमने दिल्ली में तैयारी के दौरान तीन दोस्तों का एक वॉट्सएप ग्रुप बना रखा था जिस पर हर समस्या व तैयारी के लिए बनाए गए नोट्स डालते थे। इसके अलावा मोबाइल का इस्तेमाल सिर्फ परिवार और दोस्तों से बात करने के लिए करता।

Q. 24 घंटे सिर्फ किताबों पर ही फोकस रखा ?
A. पढ़ने के दौरान बोरियत होने पर मैं फुटबॉल मैच देखता था। मैंने एक भी आईपीएल मैच नहीं छोड़ा। इसलिए यह हौवा नहीं बनाएं कि आप सिविल सर्विसेज की तैयारी कर रहे हैं तो आपको अपनी हॉबी छोड़ देनी चाहिए। हॉबी ही ऐसी चीज है जो आपको अंदर से मजबूत करती है।

Q. गणित जैसे सब्जेक्ट के साथ तैयारी कैसे की ?
A. कई बार सवालों में उलझने पर गुस्सा आता था। दिल्ली में कोचिंग का एक बड़ा कारण मैथ्स भी था। आईएएस में चयनित मेरे दोस्त अक्षय गोदारा ने बताया कि मैथ्स का सिलेबस लंबा है इसे सबसे ज्यादा समय दो। मैंने मैथ्स को सबसे पहले तैयार किया। रोज रिवीजन भी किया। विगत सालों के पुराने पेपर्स सॉल्व कर पेपर पैटर्न जाना।

Q. इंटरव्यू में सफलता कैसे पाई ?
A. इंटरव्यू में सवालों के जवाब देने के लिए मैं राज्यसभा की डिबेट देखता था। सवालों के जवाब देने के साथ ही कॉन्फिडेंस लेवल बढ़ा। मेरा इंटरव्यू 35 मिनट तक चला। इंटरव्यू में मैंने सभी सवालों के सटीक जवाब दिए। अभ्यर्थी वहां कोई भी बनावटी बात व झूठ नहीं बोल सकता।

Q. तैयारी के दौरान कभी भी निराश नहीं हुए ?
A. जब भी मैं उदास या नाउम्मीद होता तो मेरी गर्लफ्रेंड सोनल और बड़ी बहन तन्मय कटारिया से बात करता। वो मुझे मोटिवेट करते। मेरे दोस्त विदेशों में घूमते या परिवार के शादी सहित अन्य पारिवारिक आयोजन होते तो उनमें शरीक यही सोचकर नहीं होता कि घूमने व शादियों में जाने के लिए मेरे पास जीवन के 40 साल पड़े हैं।

Q. आईएएस के लिए किस बात ने प्रेरित किया ?
A. मैंने दक्षिण कोरिया में एक करोड़ के पैकेज पर नौकरी की। मैंने महसूस किया कि जीवन में पैसा ही सबकुछ नहीं होता। ताऊजी कलेक्टर रहे। मैं मेरे पिता सांवरमल वर्मा की तरह आईएएस बनकर देश सेवा करने की ठान ली। समाज से डायरेक्ट कनेक्ट होने की चाह में आईएएस चुना।

X
Rajasthan news in hindi: UPSC exam topper Kanishka Kataria Share his success story
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना