जयपुर / सब इंस्पेक्टर एक लाख रूपए की रिश्वत लेते गिरफ्तार, दलाल के मार्फत की रूपयों की मांग



रिश्वत के केस में गिरफ्तार सबइंस्पेक्टर छुट्‌टन लाल रिश्वत के केस में गिरफ्तार सबइंस्पेक्टर छुट्‌टन लाल
बिचौलिया आरोपी कैलाश, जिसने एसआई के लिए रिश्वत ली बिचौलिया आरोपी कैलाश, जिसने एसआई के लिए रिश्वत ली
गिरफ्तारी के बाद यूं नजर आया सबइंस्पेक्टर छुट्‌टनलाल गिरफ्तारी के बाद यूं नजर आया सबइंस्पेक्टर छुट्‌टनलाल
X
रिश्वत के केस में गिरफ्तार सबइंस्पेक्टर छुट्‌टन लालरिश्वत के केस में गिरफ्तार सबइंस्पेक्टर छुट्‌टन लाल
बिचौलिया आरोपी कैलाश, जिसने एसआई के लिए रिश्वत लीबिचौलिया आरोपी कैलाश, जिसने एसआई के लिए रिश्वत ली
गिरफ्तारी के बाद यूं नजर आया सबइंस्पेक्टर छुट्‌टनलालगिरफ्तारी के बाद यूं नजर आया सबइंस्पेक्टर छुट्‌टनलाल

  • भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की जयपुर देहात टीम ने कार्रवाई
  • ट्रांसपोर्ट नगर पुलिया के पास ली रिश्वत, वहीं रंगे हाथों पकड़ा

Dainik Bhaskar

Jul 19, 2019, 08:30 PM IST

जयपुर. भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टीम ने शुक्रवार को एक बड़ी कार्रवाई करते हुए ब्रह्मपुरी थाने के सबइंस्पेक्टर छुट्‌टन लाल को एक लाख रुपए की रिश्वत मांगने के मामले में रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। रिश्वत की यह रकम सब इंस्पेक्टर छुट्‌टनलाल के लिए बिचौलिए कैलाश ने ली। कैलाश को भी एसीबी ने गिरफ्तार कर लिया।

 

यह कार्रवाई एसीबी जयपुर देहात टीम के पुलिस इंस्पेक्टर नीरज भारद्वाज के नेतृत्व में गठित टीम ने की। प्रारंभिक जानकारी के अनुसार परिवादी मूल रुप से कोटखावदा का है। वह मुंबई में व्यवसाय करता है। उसके खिलाफ ब्रह्मपुरी थाने में वर्ष 2017 थाने में दर्ज जमीन की धोखाधड़ी से संबंधित एक केस में आरोपी नहीं बनाने और राहत देने की एवज में एसआई छुट्‌टन रिश्वत मांग रहा था। तब पीड़ित ने एसीबी को सूचना दी।

 

तब परिवादी के संपर्क में बस्सी में माधोपुरा निवासी कैलाश आया। आरोपी कैलाश की जान पहचान सबइंस्पेक्टर छुट्‌टनलाल की बस्सी थाने में तैनातगी के वक्त से थी। ऐसे में छुट्‌टन ने कैलाश के मार्फत रिश्वत मांगी। पहले वह डेढ़ लाख रूपए मांग रहा था। फिर एक लाख रुपए में बात बनी। 

 

शुक्रवार को सबइंस्पेक्टर छुट्‌टनलाल के दलाल कैलाश ने पीड़ित को रिश्वत की रकम लेकर जयपुर आगरा राजमार्ग पर ट्रांसपोर्ट नगर पुलिया के पास बुलाया। जहां एसीबी ने दलाल कैलाश ने परिवादी से ज्यूस की दुकान पर एक लाख रुपए के नोटों की गड्‌डी रिश्वत में लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया।

 

इसके बाद आरोपी कैलाश ने सबइंस्पेक्टर छुट्‌टनलाल को फोन कर रिश्वत की रकम लेने की बात कही। इनकी बातचीत के बाद एसीबी ने सबइंस्पेक्टर छुट्‌टनलाल को धरदबोचा। उससे रिश्वत की रकम बरामद कर ली है। पहले कानोता, बस्सी थाना, ट्रेफिक पुलिस में रहा है। अजमेर में भी ट्रांसफर हुआ। लेकिन वापस जयपुर आ गया।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना