--Advertisement--

टिकट का दंगल / दावेदारों का रियलिटी चेक ; विरोधी पुराने मामले खंगाल रहे हैं, दिल्ली तक इनके सबूत पहुंचा रहे हैं



तस्वीर भाजपा मुख्यालय की। शनिवार को जयपुर स्थित भाजपा मुख्यालय पर विरोधियों का जमावड़ा रहा। अलग-अलग सीटों पर अलग-अलग नामों को लेकर विरोध देखा गया। कुछ दिन पहले ऐसी ही तस्वीरें कांग्रेस कार्यालय के बाहर से आई थीं। तस्वीर भाजपा मुख्यालय की। शनिवार को जयपुर स्थित भाजपा मुख्यालय पर विरोधियों का जमावड़ा रहा। अलग-अलग सीटों पर अलग-अलग नामों को लेकर विरोध देखा गया। कुछ दिन पहले ऐसी ही तस्वीरें कांग्रेस कार्यालय के बाहर से आई थीं।
X
तस्वीर भाजपा मुख्यालय की। शनिवार को जयपुर स्थित भाजपा मुख्यालय पर विरोधियों का जमावड़ा रहा। अलग-अलग सीटों पर अलग-अलग नामों को लेकर विरोध देखा गया। कुछ दिन पहले ऐसी ही तस्वीरें कांग्रेस कार्यालय के बाहर से आई थीं।तस्वीर भाजपा मुख्यालय की। शनिवार को जयपुर स्थित भाजपा मुख्यालय पर विरोधियों का जमावड़ा रहा। अलग-अलग सीटों पर अलग-अलग नामों को लेकर विरोध देखा गया। कुछ दिन पहले ऐसी ही तस्वीरें कांग्रेस कार्यालय के बाहर से आई थीं।

  • कांग्रेस और भाजपा, दोनों ही दलों में दावेदारों को विरोधियों से जूझना पड़ रहा है 

Dainik Bhaskar

Nov 11, 2018, 08:47 AM IST

जयपुर। कांग्रेस और भाजपा में टिकट दावेदारों के नाम पैनल में आते ही उनके विरोधी सक्रिय हो गए हैं। विरोधियों की ओर से गड़े मुर्दे उखाड़े जा रहे हैं और दावेदारों के आपराधिक मामलों को खंगाला जा रहा है। पुराने कारनामों को जयपुर से लेकर दिल्ली तक आला नेताओं तक पहुंचाया जा रहा है।

समझाइश की जा रही है

  1. उन्हें बताया जा रहा है कि किस तरह से इनको टिकट देने से पार्टी को नुकसान हो सकता है। कई ऐसे नेता हैं, जो केवल इसी काम में लगे हुए हैं। उन्हें न तो खुद को टिकट चाहिए न ही किसी के लिए सिफारिश। पार्टी में विरोधी को टिकट न मिले। बस इसी पर उनका पूरा फोकस है। इसी में उनका पूरा दिन गुजर रहा है। 

  2. कौन-किस मामले में फंसा हुआ है, सोशल मीडिया पर कर रहे खुलासे 

    इधर...कांग्रेस में शैलजा, पायलट, गहलोत तक पहुंचा रहे हैं दावेदारों के संगीन मामलों से जुड़े दस्तावेज 
    पिछले 20 दिन से जयपुर से दिल्ली तक विरोधियों की ऐसी सक्रियता से कांग्रेस के दिग्गज परेशान हो गए हैं। उन्हें समझ नहीं आ रहा कि करें तो क्या करें? विरोधियों की ओर से ऐसे दस्तावेज कांग्रेस के दिग्गजों के पास पहुंचाये जा रहे हैं।

  3. इनमें किसी दावेदार पर मुकदमा दर्ज है तो काेई किसी संगीन अपराध में फंसा हुआ है। कोई भ्रष्टाचार के मामलों में फंसा हुआ है। पिछली स्क्रीनिंग कमेटी की मीटिंग में जयपुर की एक सीट से एक ऐसे प्रत्याशी को टिकट देने की सिफारिश कर दी गई, जिसका पारिवारिक बैकग्राउंड सट्टा बाजार से जुड़ा हुआ है। आलाकमान को पता चलते ही दिग्गज नेताओं के पसीने छूटने लगे।

  4. इसी तरह से प्रदेश भर के दावेदारों के पुराने केसों का रिकॉर्ड खंगाल कर लाया जा रहा है। ये रिकॉर्ड कांग्रेस स्क्रीनिंग कमेटी की चेयरपर्सन कुमारी शैलजा, प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट, पूर्व सीएम अशोक गहलोत, प्रदेश प्रभारी अविनाश पांडे सहित अन्य नेताओं को दिए जा रहे हैं, जिससे उन्हें टिकट न मिल पाए। 

  5. शाह को लिखे जा रहे पत्र 

    भाजपा में भी प्रबल दावेदारों में से कई लोगों के खिलाफ शिकायतें हो रही हैं। जयपुर की हवामहल सीट से एक दावेदार के खिलाफ आरएसएस से जुड़े एक व्यक्ति ने सीधे राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को पत्र से सूचनाएं भेजी हैं। दावेदार के लिए लिखा है कि उसने पूर्व में धोखाधड़ी की है। जमीनों के मामले में हेरफेर किया है। ऐसे ही आरोप वाले पत्र जयपुर की मालवीय नगर सीट और जालौर की भीनमाल सीट के एक दावेदार के खिलाफ भी वायरल किए गए हैं।  

Bhaskar Whatsapp
Click to listen..